मोर को राष्ट्रीय पक्षी का दर्जा दिया गया है जिसका शिकार प्रतिबंधित है उसके बाबजूद भी शिकारी अनेको तरीको से शिकार को अंजाम देते है ऐसा ही एक मामला बुंदेलखंड के महोबा जिले में प्रकाश में आया जहां एक दर्जन से अधिक राष्ट्रीय पक्षियों को जहरीला पदार्थ खिलाकर मौत के घाट उतार दिया ,ग्रामीणों की सूचना के घंटो बाद वन विभाग की टीम  ने मौके पर पहुँचकर मौरो को कब्जे में लेकर अग्रिम कार्यबाही में जुट गई ।

मामला चरखारी कोतवाली के जरौली मौजे का है जहां आज सुबह जब ग्रामीण अपने खेतों की ओर जा रहे थे तभी उन्हें मौरो के शव मिले जिन्हें देख हैरान रह गए इसकी सूचना ग्रामीणों ने वन विभाग के साथ साथ पुलिस प्रशासन को दी ।

ग्रामीणों का कहना है सुबह जब देखा तो एक मोर इस खेत पर तो दूसरी मोर दूसरे खेत पर इस तरह एक दर्जन मोर मारी मिली , एक हप्ते से कुछबंधियाँ जाती के लोग यहां आ रहे है शायद उन्ही ने मौरो को आनाज के दानों में जहरीला पदार्थ मिला कर खिलाया है । सुबह से सम्बंधित अधिकारियों को सूचना दे रहे है लेकिन 11 बजे तक कोई भी जिम्मेदार अधिकारी ने मौके पर आने की जरूरत नही समझी ।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.