गोरखपुर – बारिश के मौसम में बरसात न होने के चलते किसान बहुत परेशान थे। किसानों की धान की फसल बर्बाद हो रही थी जिसके चलते किसान इंद्र की बेरूखी से परेशान थे। हालात सूखे के जैसे हो गए थे। धान की फसल को खराब होता देख किसान बहुत परेशान थे। हालात ये हो गए थे कि खेतों में लगी ट्यूबबेल भी जवाब देने लगे थे।

लेकिन देर रात मानसून ने दस्तक दी जिसके बाद किसानों के चेहरे खिल गए। बता दें देर रात हुई जोरदार बारिश ने किसानों को तपती धूप और गर्मी निजात दिलाया। बता दें बरसात न होने से खेतों में लगे धान झुलसे लगे थे, खेतों में दरारें पड़ने लगे गयी थी लेकिन रात से लगातार होने से खेतों में लगे धान में रौनक आ गई जिसके बाद फसल को देखकर और गर्मी से मिली राहत के बाद किसानों के भी चेहरे खिल गए।

वहीं अब किसानों का कहना है इस समय फसल को पानी की बहुत जरूरत थी गर्मी इतनी थी खेतों की बोरिंग जवाब देने लगीं थी जिससे हम फसल को बहुत नुकसान हो रहा था लेकिन देर रात हुई बारिश से न सिर्फ फसलों को राहत मिली बल्कि क्षेत्र का वाटर लेबल भी थोड़ी बहुत बढ़ोत्तरी होगी साथ आम जनजीवन और पशुओं को भी इससे लाभ मिला है। इस बरसात से अब उनकी फसलें बच जाएंगे और साथ ही अलग से उनको पानी के लिए पंप नही चलाने पड़ेंगे ।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.