दुनिया के कई देशों में कोरोना के मामले फिर से बढ़ने लगे हैं। दुनिया में बुधवार को कोरोना के 4 लाख 54 हजार 244 मामले सामने आए। इस दौरान 3 लाख 67 हजार 347 लोग ठीक हुए और 8,269 लोगों की मौत हुई।

इस बीच ब्रिटेन में हालात बिगड़ते जा रहे हैं। बीते दिन यहां 32,548 लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई। यह पिछले 165 दिनों में सबसे ज्यादा है। इससे 19 जुलाई से होने वाले अनलॉक पर सवालिया निशान खड़ा हो गया है।

19 जुलाई से पाबंदियां हटाने की तैयारी
इससे पहले प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने सोमवार को कहा था कि 19 जुलाई से शेष कोरोना प्रतिबंधों को हटा लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि लोगों को वायरस के साथ जीना सीखना होगा। सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क और वर्क फ्रॉम होम जैसे नियम खत्म होंगे। हालांकि उन्होंने कहा कि जनता कोविड से निपटने के लिए अपने कॉमन सेंस का इस्तेमाल करे।

एक्सपर्ट्स ने चेतावनी दी

  • सेंट एंड्रयूज विश्वविद्यालय के प्रोफेसर स्टीफन रीचर कहते हैं कि ऐसे स्वास्थ्य मंत्री का होना भयावह है, जो कोरोना को फ्लू मानते हैं और बढ़ते संक्रमण पर बेफ्रिक हैं। महज 50 फीसदी वेक्सीनेशन के बाद हम खुद को सुरक्षित नहीं मान सकते हैं।
  • यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन (यूसीएल) में सेंटर फॉर बिहेवियर चेंज के निदेशक प्रो सुसान मिची कहते हैं कि बढ़ते संक्रमण के साथ आगे बढ़ना वैरिएंट कारखाने बनाने जैसा हैै। ब्रिटेन में बीते 24 घंटे में 24,248 मामले सामने आए हैं, जो जनवरी के बाद सर्वाधिक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.