वाराणसी स्थित बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी में कुलपति सुधीर कुमार जैन द्वारा महिला महाविद्यालय में रोजा इफ्तार की पार्टी दिए जाने के विरोध में छात्रों का आक्रोश थमने का नाम नही ले रहा है। इसी बीच शुक्रवार को छात्रों ने कुलपति आवास पर गंगाजल छिड़काव कर शुद्धिकरण करने की कोशिश की। इतना ही नहीं छात्रों ने कुलपति आवास के दीवारों पर आपत्तिजनक नारे लिखने के साथ ही मुण्डन करते हुए हनुमान चालीसा का भी पाठ किया।

इस दौरान छात्रों और सुरक्षाकर्मियों के बीच तीखी झड़प भी हुई। वही रोजा इफ्तार पार्टी को लेकर बीएचयू प्रशासन का कहना है कि यह कोई नई परम्परा नही है ,इससे पहले भी विश्वविद्यालय के कुलपति इफ्तार पार्टी में शामिल होते रहे हैं। पण्डित मदन मोहन मालवीय ने विश्वविद्यालय की स्थापना सर्वधर्म समभाव की नीति को लेकर की थी।

शुक्रवार की शाम छात्रों ने समूह में इकट्‌ठा होकर BHU कैंपस स्थित कुलपति प्रो. सुधीर कुमार जैन के आवास को गंगाजल से शुद्ध करने पहुंचे। VC आवास पर छात्रों के गंगाजल लेकर पहुंचने की सूचना पर प्रॉक्टरोयिल बोर्ड के सुरक्षाकर्मी और पुलिस भी पहुंच गई। छात्रों और सुरक्षाकर्मियों के बीच गंगाजल से शुद्धिकरण को लेकर काफी कहासुनी हुई। छात्रों का कहना था कि कुलपति को इसके लिए माफी मांगनी होगी। वरना हम युही विरोध प्रदर्शन करते रहेंगे। छात्रों का कहना था

कुलपति ने नई परंपरा की शुरुआत कर गलत काम किया है। बीएचयू को जेएनयू और एएमयू नहीं बनने दिया जाएगा। । कुलपति प्रो. सुधीर कुमार जैन के इफ्तार पार्टी में शामिल होने के मसले को लेकर BHU प्रशासन अपनी सफाई दे चुका है। विश्वविद्यालय प्रशासन के अनुसार महामना पंडित मदन मोहन मालवीय की भावना के अनुरूप BHU में सभी धर्मों के लोगों का समभाव से सम्मान है। विश्वविद्यालय में सभी धर्मों के पर्व समान भाव से उत्साह के साथ मनाए जाते हैं।

इससे पहले भी विश्वविद्यालय के कुलपति इफ्तार पार्टी में शामिल होते रहे हैं। प्रो. जैन ने किसी नई परंपरा की शुरुआत नहीं की है। BHU प्रशासन ने यह भी अपील की है कि विश्वविद्यालय प्रशासन के शांतिपूर्ण माहौल को दूषित करने का गलत प्रयास न किया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.