इलाहाबाद – रविवार को इलाहाबाद के एक युवक ने पुलिस को एक ऐसी घटना की जानकारी दी जिससे पुलिस विभाग सख्ते में आ गया। दहअसल एक युवक को आतंकी संगठन आईएसआईएस इंडिया के व्हाट्सएप ग्रुप से जोड़े जाने के बाद युवक को व्हाट्सएप मैसेज भेजकर भारतीय एजेंसियों की खुफिया जानकारी मांगी गई है। इस मैसेज के आने के बाद से युवक और उसका परिवार दहशत में आ गया जिसके बाद युवक ने धूमनगंज थाने में मामले में शिकायत दर्ज कराई। वहीं इस मामले में एसएसपी नितिन तिवारी का कहना है कि ये पहला मामला जिसमें इस तरह से आईएसआईएस का मैसेज आया है, फिलहाल मामले को दर्जकर साइबर सेल ने मामले की जांच शुरू कर दी है।
धूमनगंज इलाके के मुंडेरा निवासी एक युवक महाराष्ट्र के ठाणे स्थित लोकमान्य नगर पांडा में प्राइवेट कंपनी में नौकरी करता है, इन दिनों वह अपने घर आया हुआ है, युवक ने बताया कि गुरुवार को घर में वह मोबाइल पर मूवी देख रहा था, कि तभी अचानक एक व्हाट्सएप आईडी से एक मैसेज आया, उसे बताया गया कि उसका नम्बर आईएसआईएस इंडिया ग्रुप में जोड़ दिया गया है जिसे देखते ही युवक के होश उड़ गए पहले तो वह तुरंत उस ग्रुप से लेफ्ट हो गया, लेकिन उसे फिर दोबारा ग्रुप में जोड़ते हुए उसे मैसेज किया गया कि क्या तुम हमारे आर्गनाइजेशन में बतौर जासूस काम करना चाहते हो, अगर तुम हमारे साथ काम करने को तैयार हो अपना पता और पेशा मैसेज करो। तुम्हे 5000 डॉलर हर महीने इंडियन एजेंसी की जानकारी हमें देने के लिए दिए जाएंगे। ध्यान रहे तुम सब हमारी साइबर आर्मी चिह्नित किए गए हो. हम जानते हैं तुम हमारा साथ दोगे, बिना कोई सवाल किए। इस मैसेज को पढ़ने के बाद युवक ने मामले की जानकारी पुलिस को दी पुलिस ने मामले में एफआईआर दर्ज करते हुए मामले की जांच साइबर सेल से करवाना शूरू कर दिया है।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.