लखनऊ। मुख्यमंत्री के निर्देश के तहत लॉक डाउन में अन्य राज्यो में फंसे हुए उत्तरप्रदेश के छात्र- छात्राओं को अपने घर लाने के लिए बसें चलवाई गई थी। जिसके क्रम में कल से आज तक कुल 15 बसें सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन करते हुए 273 छात्र- छात्राओं लखनऊ ले कर आ गई है। इन छात्र- छात्राओं के रहने और खाने को लेकर आज जिलाधिकारी ने विशेष ध्यान देने के निर्देश दिये है।
जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने बताया कि कोविड – 19 के दृष्टिगत बाहर से आने वाले समस्त छात्र- छात्राओं को बीबीडी में रोका गया था। वहां पर उनके लिए भोजन आदि की भी पर्याप्त व्यवस्था कराई गई है। जिलाधिकारी ने बताया कि बाहर से आने वाले छात्र-छात्राओं का रेपिड रिस्पांस टेस्ट कराने के बाद ही उनको उनके अभिभावकों के साथ जाने दिया जाएगा। साथ ही अभिभावकों को एक अंडर टेकिंग भी देना होगा कि बच्चों को ले जा कर 14 दिन उनको होम क्वारेन्टीन करना होगा। यदि ऐसा नही किया जाता है तो जिला प्रशासन बच्चों को इंस्टिट्यूशनल कवारेन्टीन में रखने के लिए स्वतंत्र है।
आज जिलाधिकारी स्वयं बीबीडी0 पहुँचे और वहां पर की गई सभी व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया। जिलाधिकारी द्वारा बच्चों को खाना व जूस आदि भी वितरित कराया गया। जिलाधिकारी ने बताया कि सभी 273 बच्चों का रेपिड रेस्पॉन्स टेस्ट करा लिया गया है। सभी बच्चों की रिपोर्ट निगेटिव आई है और उनको अपने अपने अभिभावकों के सुपुर्द किया जा रहा है। जिलाधिकारी ने बताया कि सभी 273 बच्चों के मोबाईल में आरोग्य सेतु ऐप डाऊनलोड करा दी गई है। जिलाधिकारी द्वारा बच्चों के अभिभावकों से भी संवाद किया गया और उनसे अपील की गई के अगले 14 दिन बच्चों को होम कवारेन्टीन में रखे कहीं बाहर न निकलने दे। यदि जरा भी कोरोना से मिलते जुलते लक्षण दिखाई देते है तो तुरंत जिला प्रशासन के हेल्पलाइन नम्बर या फिर मुख्य चिकित्साधिकारी को इसकी सूचना दे।
जिलाधिकारी ने बताया की सभी बच्चों को उनके घरों के लिए रवाना कर दिया गया है। सिर्फ कुछ एक बेबस बची है उनका इन्तजार किया जा रहा है। लगभग 30-35 बच्चे और आने बाकी हैं। उनका भी तत्काल टेस्ट करा कर उनके अभिभावकों के सुपुर्द कर दिया जाएगा।
इसी बीच यहां पर कोटा से रायबरेली निवासी छात्र हर्शित शर्मा द्वारा रायबरेली से पिता रवि शंकर शर्मा को अनुमति न मिलने के प्रकरण पर जिलाधिकारी ने स्वयं जिलाधिकारी रायबरेली से वार्ता की और उक्त छात्र को सुरक्षित रायबरेली भिजवाने के निर्देश नगर मजिस्ट्रेट को दिए

Leave a Reply

Your email address will not be published.