यूपी के मुखिया और उत्तराखंड के लाल सीएम योगी

संन्यासी का वर्षों बाद अपनी माता से मिलन होने जा रहा है
संन्यासी का वर्षों बाद अपनी माता से मिलन होने जा रहा है

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बनने के बाद योगी आदित्यनाथ मंगलवार को पहली बार अपने पैतृक गांव यमकेश्वर के पंचूर पहुंचे।
आदित्यनाथ मंगलवार को पांच साल बाद अपने गांव पहुंचे। जहां वो अपनी मां सावित्री से मिले। इसके साथ ही परिवार के अन्य सदस्यों व लोगों से भी मुलाकात की। 

संन्यास के 28 साल बाद योगी आदित्यनाथ यहां रात बिताएंगे। प्रदेश में सीएम योगी के पहुंचने का खासा उत्साह है। उनका भव्य स्वागत समारोह किया गया। करीब पांच साल पहले 2017 में चुनाव से पहले सीएम योगी आदित्यनाथ अपने घर पहुंचे गए थे।

संन्यासी का वर्षों बाद अपनी माता से मिलन होने जा रहा है
संन्यासी का वर्षों बाद अपनी माता से मिलन होने जा रहा है

संन्यास के वर्षों बाद अपनी माता से मिलन पहुँचे योगी

तीन दिवसीय दौरे पर उत्तराखंड पहुंचे सीएम योगी का भव्य स्वागत हुआ। पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने योगी आदित्यनाथ का उत्तराखंड पहुंचने पर स्वागत किया। इस दौरान सीएम धामी और पूर्व सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत सिंह ने कहा है कि आज एक संन्यासी का वर्षों बाद अपनी माता से मिलन होने जा रहा है। यह बड़ा ही भावुक कर देने वाला क्षण होगा।

संन्यासी का वर्षों बाद अपनी माता से मिलन होने जा रहा है
संन्यासी का वर्षों बाद अपनी माता से मिलन होने जा रहा है

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बनने के बाद योगी आदित्यनाथ मंगलवार को पहली बार अपने पैतृक गांव यमकेश्वर के पंचूर पहुंचे। यहां उन्होंने सबसे पहले पंचूर से करीब तीन किमी(किलोमीटर) दूर बिथ्याणी स्थित महायोगी गुरु गोरखनाथ राजकीय महाविद्यालय परिसर में उन्होंने गुरु महंत अवेद्यनाथ की प्रतिमा का अनावरण किया। इस दौरान गुरु को यादकर सीएम योगी आदित्यनाथ की आंखें नम हो गईं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.