त्तर प्रदेश पुलिस भर्ती बोर्ड के माध्यम से पुलिस एवं पीएसी के 41520 पदों पर भर्ती के लिए कराई गई लिखित परीक्षा में बड़ी चूक सामने आई है। दो केंद्रों पर परीक्षा के गलत प्रश्नपत्र बांट दिए जाने के कारण दोनों दिनों की दूसरी पाली की पूरी परीक्षा ही निरस्त करनी पड़ी।जल्द ही दोबारा परीक्षा की तारीख बोर्ड की वेबसाइट पर घोषित की जाएगी।

 बोर्ड ने इस चूक के लिए जिम्मेदार केद्र व्यवस्थापक, पुलिस प्रेक्षक, परीक्षा कराने वाली संस्था के प्रतिनिधि एवं अन्य दोषियों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कराने का फैसला किया है। नागरिक पुलिस में पुरुष व महिला सिपाही तथा पीएसी में पुरुष सिपाही के पदों सीधी भर्ती 2018 की आफलाइन लिखित परीक्षा प्रदेश के 860 केंद्रों पर गत 18 व 19 जून को दो पालियों में कराई गई थी। परीक्षा आयोजित होने के दो-तीन दिनों बाद ही कुछ स्थानों से यह सूचना आई कि प्रथम पाली एवं द्वितीय पाली में जो प्रश्नपत्र बांटे गए हैं, उनमें अंतर नहीं था। दोनों पालियों में एक ही प्रश्नपत्र बांट दिए गए।
प्रमुख सचिव गृह अरविन्द कुमार ने कहा कि प्रदेश सरकार ने परीक्षा में हुई चूक को बेहद गंभीरता से लेते हुए सभी दोषियों को दंडित करने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि परीक्षा के संबंध में बोर्ड की ओर से स्पष्ट दिशा-निर्देश दिए गए थे। इसके बावजूद प्रश्नपत्र की पेटी खोलने में लापरवाही की गई। इस कारण भर्ती बोर्ड की ओर से दोनों केंद्रों के केंद्र व्यवस्थापकों, परीक्षा कराने वाली संस्था के प्रतिनिधियों, पुलिस के प्रेक्षकों एवं अन्य के विरुद्ध आपराधिक मामले से संबंधित एफआईआर संबंधित थाने में दर्ज कराई जाएगी।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.