उन्नाव – बहुचर्चित विधायक कुलदीप सिंह सेंगर द्वारा नाबालिग से रेप के मामले में सीबीआई ने बुधवार को चार्जशीट दाखिल कर दी, इसी मामले में पीड़िता और उसके परिवार ने सीबीआई जांच को लेकर संतुष्टि जताई लेकिन पीड़िता सहित गाँव वाले इस पूरे प्रकरण पर भाजपा द्वारा अब तक कुलदीप सिंह सेंगर को पार्टी से बर्खास्त न करने को लेकर भाजपा से न खुशी जताई।
बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर पर सीबीआई की चार्जशीट दाखिल होने के बाद इस मामले पीड़िता के चाचा ने कहा कि सीबीआई की जांच से हम व हमारा गांव पूरी तरह से संतुष्ट हैं।
इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि हमें और गांव वालों को बस यह अफसोस हुआ है कि सीबीआई ने विधायक को रेप के मामले में दोषी करार दिया है लेकिन भाजपा पार्टी ने अभी तक विधायक को पार्टी से नहीं निकाला है।
पीड़ित के चाचा ने आरोप लगाया कि गाँव में अभी भी कुछ दबे-कुचले लोग हैं जिनके साथ विधायक कुलदीप ने बहुत अन्याय किया है वह लोग भी मुंह खोलना चाहते हैं लेकिन डर की वजह से बोल नहीं पा रहे हैं। उन्होंने कहा कि इसके पीछे की वजह ये हैं कि विधायक अभी शासन में हैं, उन्होंने सलाह देते हुए कहा कि विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को पार्टी से निकाल देना चाहिए।
विधायक ने कहा कि इससे जिन लोगों के साथ अत्याचार हुआ है, वह प्रशासन को अपनी बात बता सकें। जिससे उनको न्याय मिल सके।

चार्जशीट दाखिल होने के बाद भी विधायक पार्टी में शामिल
पीडिता के चाचा ने ये भी कहा कि अभी कई लोग हैं, जिनके ऊपर अभी तक कोई कार्रवाई नही हुई है, जिन लोगों ने विधायक की मदद की थी उनमें जेल सुपरिंटेंडेंट, जेल के डॉक्टर व जिला अस्पताल के डॉक्टर तथा सीओ सफीपुर व तत्कालीन पुलिस अधीक्षिका उन्नाव शामिल हैं। उन्होंने बताया कि पुलिस अधीक्षिका उन्नाव ने जांच में हीलाहवाली करके विधायक की मदद की थी।
पीड़िता के चाचा ने मांग करते हुए कहा कि अगर विधायक को पार्टी से निकल दिया जाए तो सीबीआई भी निष्पक्ष तरीके से कार्रवाई करेगी और आरोपी सभी लोग जेल के अंदर होंगे लेकिन अफसोस है कि बेटी पढ़ाओ-बेटी बढ़ाओ का नारा देने वाली बीजेपी पार्टी को अभी भी रेप का आरोपी विधायक प्यारा लग रहा है।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.