जनपद में एक नाबालिग लड़की ने मनचलों से तंग आकर जहर खाकर अपनी जान दे दी है।
उत्तर प्रदेश में लड़कियों के साथ छेड़छाड़ की घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही है। वहीं यूपी सरकार की एंटी रोमियो स्क्वायड टीम लड़कियों के साथ हो रही छेड़छाड़ की घटनाओं को रोकने में नाकाम साबित हो रही है। जिसके चलते जनपद में एक नाबालिग लड़की ने मनचलों से तंग आकर जहर खाकर अपनी जान दे दी है। वही मनचले नाबालिक लड़की के गांव के ही दो युवक है। वही नाबालिक लड़की के परिजनों ने कुछ दिन पहले यह मामला ग्राम प्रधान को बताया था जिसके बाद ग्राम प्रधान ने इस मामले में परिजनों को पुलिस से कुछ भी बताने से मना कर दिया था और खुद ही मामला शांत कराने की बात कही थी। जिसके बाद मनचलों के हौसले और बुलंद हो गए। वही इसका परिणाम नाबालिग लड़की को अपनी जान देकर चुकाना पड़ा है।

दरअसल मामला थाना झिंझाना क्षेत्र के गांव शामली-शामला का है। जहां पर एक नाबालिग युवती अपने ही गांव के दो मनचले युवको का शिकार हो गई है। वही लड़की को गांव के ही दो युवक बंटी व जर्मन लगभग 6 महीने से परेशान कर रहे थे। वही मनचलों की छेड़छाड़ से तंग आकर युवती ने सारी घटना परिजनों को बताई। जिसके बाद परिजनों ने मामला ग्राम प्रधान के सामने रखा। वही ग्राम प्रधान ने नाबालिक लड़की के परिजनों को बदनामी का हवाला देते हुए गांव में ही मामला शांत कराने की बात कही। वही ग्राम प्रधान ने परिजनों को इस मामले को पुलिस को बताने के लिए भी मना कर दिया। जिसके बाद मनचलों के हौसले और ज्यादा बुलंद हो गए। वही गांव के दोनों मनचलों ने नाबालिक युवती को इतना परेशान किया कि नाबालिक लड़की ने इज्जत के डर से जहर का सेवन कर लिया और अपनी जान दे दी। वही मामला पुलिस के संज्ञान में आया तो पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। वही पुलिस पीड़ित परिजनों की तहरीर पर पुलिस को दी है…

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.