हाथरस–हाथरस में एक बार फिर कुछ शरारती तत्वों ने शहर का माहौल बिगाड़ने का प्रयास किया। हाथरस में ईदगाह पर केसरिया झंडे फहरा दिये गए। दूसरे पक्ष के लोगों ने जब शहर के इस प्रसिद्ध धार्मिक स्थल पर केसरिया झंडे लगे देखे तो अधिकारियों को इसकी सूचना दी।

सूचना मिलते ही पुलिस अधिकारियों के पसीने छूट गये। पुलिस अधिकारी पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गये। पुलिस ने आनन फानन में ईदगाह के गेट से झंडे उतरवा दिया और झंडे फहराने वालों की तलाश शुरू कर दी गई । वही ईदगाह के सामने बने गेस्ट हाउस में बजरंग दल का सम्मेलन चल रहा था। बताया जा रहा है कि मुरसान गेट स्थित पुष्पांजलि गेस्ट हाउस में बजरंग दल का जिला स्तरीय सम्मेलन था। इसमें संगठन के पदाधिकारी और कार्यकर्ता मौजूद थे। इस गेस्ट हाउस के सामने ही शहर का सबसे बड़ा ईदगाह है। इस दौरान किसी ने इस ईदगाह पर केसरिया झंडे लगा दिए। कुछ समय बाद जब दूसरे समुदाय के लोगों ने अपने धार्मिक स्थल पर केसरिया झंडे लगे देखे तो उनमें आक्रोश व्याप्त हो गया। इसकी सूचना पुलिस को दी गई। मौके पर पुलिस पहुंच गई और आनन-फानन यह झंडे हटवाए।

ईदगाह पर लगे झंडे के मामले में पुलिस ने बजरंग दल के कुछ पदाधिकारियों से भी पूछताछ की। वही बजरंग दल के जिला संयोजक प्रशांत मिश्र का कहना है कि उनके संगठन ने इस तरह की कोेई हरकत नहीं की है। यह किसी शरारती तत्व का काम है। पुष्पांजलि में उनके संंगठन का सम्मेलन शांति पूर्वक हुआ है। अगर कोई हमरे संघठन का व्यक्ति होगा तो उसके खिलाफ संघठन द्धारा निश्चित कार्यवाही की जाएगी।

इस बारे में पुलिस अधीक्षक  ने बताया कि ईदगाह पर केसरिया झंडे लगने की सूचना मिली थी। उन्हें हटवा दिया गया है। जिन लोगों ने यह झंडे लगाए हैं, उनकी तलाश की जा रही है। शहर की फिजा बिगड़ाने की कोशिश करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.