रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह अपने एक दिन के दौरे पर लखनऊ पहुंच गए हैं। यहां उन्होंने लखनऊ के पूर्व सांसद लालजी टंडन की प्रतिमा का अनावरण किया। इस दौरान टंडन को याद करते हुए उन्होंने टंडन के साथ मायावती, अटल बिहारी वाजपेयी और समाजवादी पार्टी से जुड़े तीन रोचक किस्सा बताया।

इन तीन किस्सों को सुनकर हर किसी ने बजाई तालियां

1. टंडन को भाई कहती थीं पूर्व मुख्यमंत्री मायावती
रक्षा मंत्री ने पुराने दिनों को याद किया। बोले- जब मायावती जी उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री थीं, तब वो लालजी टंडन को अपना भाई कहती थीं। मायावती ने ओपन प्लेटफार्म पर कहा था कि टंडन जी मेरे भाई हैं। इसी तरह कांग्रेस और समाजवादी पार्टी से जुड़े नेताओं के साथ भी उनके काफी अच्छे संबंध थे। अगर किसी को राजनीति में रहते हुए अपने संबंध बरकरार रखना है तो टंडन जी से इसकी सीख लेनी चाहिए।

2. अटल जी राम तो टंडन लखन थे
राजनाथ सिंह ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और लालजी टंडन के रिश्तों के बारे में भी बताया। कहा कि अगर अटल जी को राम कहा जाए तो टंडन जी उनके लखन थे। अटल जी टंडन जी को काफी पसंद करते थे। लखनऊ के विकास में दोनों की काफी बड़ी भूमिका रही। जो विकास की नींव अटल जी और टंडन जी ने रखा था उसे जारी रखना हम सभी की जिम्म्मेदारी है। मैं भी लखनऊ का जनप्रतिनिधि होने के नाते इसमें भागीदारी करुंगा।

3. मुख्यमंत्री कोई भी हो, टंडन जी की सलाह जरूर लेता था
रक्षा मंत्री ने खुद और कल्याण सिंह के मुख्यमंत्री रहने के दौरान की कहानी भी बताई। कहा, चाहे मैं रहता था या फिर कल्याण सिंह जी। हम दोनों कोई भी फैसला लेने से पहले लालजी टंडन से सलाह जरूर लेते थे। टंडन जी ने BJP को उत्तर प्रदेश और सत्ता के गलियारे में स्थापित किया। उनकी पकड़ राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और लोकल मामलों में काफी अच्छी थी।

सीएम, डिप्टी सीएम भी मौजूद रहे
इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य और डॉ. दिनेश शर्मा, BJP प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह भी मौजूद रहे। अब थोड़ी देर में वह PGI में भर्ती पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह से मुलाकात करने पहुंचेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.