मुज़फ्फरनगर  में एक युवक ने एक युवती को मेहँदी लगाने के बहाने घर बुलाकर ना सिर्फ तमंचे का खौफ दिखाकर बलात्कार डाला बल्कि अपने स्मार्ट मोबाइल में युवती का अश्लील वीडियो भी बना लिया। उसी वीडियो को वायरल करने की धमकी देकर आरोपी पिछले 6 माह से लगातार युवती को ब्लेकमैल कर बुलाता और अपनी हवस का शिकार बनाता रहा। मामला उस समय सामने आया जब युवती 6 माह की गर्भवती हो गयी। परिजनों के पूछने पर पीड़िता ने सारी हकीकत बयाँ कर दी। युवती और उसके परिजन पिछले कई दिनों से न्याय की आस में पुलिस अधिकारियो के चक्कर काट रही है। बिन ब्याही बेटी के गर्भवती होने पर एक तरफ दुखो का पहाड़ टूट पड़ा है तो वंही समाज के ठेकेदारों ने पंचायत कर पीड़ित परिवार का बहिष्कार कर समाज से इनका हुक्का पानी भी बंद कर दिया है। दूसरी और आरोपी पक्ष लगातार जंहा युवती पर मानसिक और पैसो का लालच देकर मामले को दबाने का प्रयाश कर रहा है। अब ऐसे हालात में युवती और उसके परिजन आरोपी के खिलाफ प्रधानमंत्री और सी एम् योगी से न्याय की गुहार लगा रहे है। पुलिस ने आरोपी युवक और अन्य चार अभियुक्तों के खिलाफ मुकदमा तो दर्ज कर लिया लेकिन किसी भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया है। .

दरअसल मामला उत्तर प्रदेश के जनपद मुज़फ्फरनगर थाना सिविल लाइन क्षेत्र के मोहल्ला जशवंतपुरी इलाके का है जंहा शमशाद की 23 वर्षीय बेटी ज़रीन परिवार की आर्थिक स्तिथि कमजोर होने पर घर घर जाकर मेहँदी लगाने का काम करती है। युवती का आरोप है कि वह मल्हूपुरा निवासी आरिफ़ का भांजा शोएब जो दिल्ली के कबीरनगर का रहने वाला है उस पर बुरी नजर रखता था। फरवरी में आरोपी शोएब उसे किसी महिला को मेहँदी लगवाने का झांसा देकर आरिफ के घर ले आया और उसके साथ जबरदस्ती का प्रयास किया। विरोध करने पर आरोपी ने तमंचे के बल पर उसके साथ दुराचार किया और आरोपी ने उसकी अश्लील वीडियो भी बना ली। आरोप है कि आरोपी वीडियो सार्वजनिक करने की धमकी देकर लगातार उसके साथ दुराचार करता रहा। आरोपी पीड़िता को दिल्ली और रूड़की ले जाकर भी बलात्कार करता रहा | 29 जुलाई को पीड़िता ने गर्भवती होने की बात आरोपी को बतायी। आरोप है कि आरोपी के पिता बदरू, मां नगमा व मामा आरिफ उसके घर पर आये। आरोपियों ने भी वीडियो सार्वजनिक करने की धमकी देकर उसका जबरदस्ती गर्भपात कराने का प्रयास किया। वह आरोपियों के साथ नहीं गयी। आरोप है कि आरोपी ने धोखे से उसे मिठाई खिला दी। मिठाई में जहर मिला होने के कारण उसकी हालत बिगड़ गयी। आरोप है कि उसकी व उसके गर्भ में पल रहे बच्चे की हत्या करना चाहते थे। उपचार के बाद इस संबंध में थाने पर तहरीर दी गयी। बिन ब्याही बेटी के गर्भवती होने पर समाज के ठेकेदारों ने पंचायत कर पीड़ित परिवार का बहिष्कार कर समाज में हुक्का पानी भी बंद कर दिया। युवती के माने तो आरोपी और उसके परिजन 6 लाख रूपये देकर फैशला करने का दबाव बना रहे है। हम लगातार कई दिनों से पुलिस के चक्कर काट रहे है लेकिन पुलिस ने अभी तक आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया है।

 

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.