वसीम रिज़वी, चेयरमैन शिया वक़्फ़ बोर्ड – बाबरी मस्जिद बाबर के गुनाहों का है नतीजा, मस्जिद की पैरोकारी करने वाले अपने अल्लाह के वफ़ादार नही, अयोध्या में भगवान श्रीराम का भव्य मंदिर बनाने के लिए आगे आकर ही अपने गुनाहों को कम कर सकते है, वरना मंदिर को बनने से कोई रोक नही सकता- लखनऊ ,बाबरी ढांचा गिराने वाले अपने भगवान के वफादार थे लेकिन बाबर और मीरबाकी अपने अल्लाह के गुनहगार थे क्योंकि उन्होंने उन्माद फ़ैलाया दूसरे धर्म की इबादतगाहों को गिराकर उस जगह बाबरी मस्ज़िद बाबर के गुनाहों का नतीजा है बाबरी मस्जिद श्रीराम मंदिर अयोध्या में ही बनेगा ये हिन्दुओ का हक़ है रामजन्म भूमि पर मुसलमानों का कोई हक नही है ये जमीन मुसलमानों की नही हो सकती बाबरी मस्जिद पैरोकारो को चाहिए कि अपने गुनाहों का और बाबर के गुनाहों का पश्चाताप करे अपने अहंकार को छोड़कर लखनऊ मस्जिद ए अमन बनने का स्वागत करै।
क्योकि अल्लाह ये इजाजत नही देता की किसी दूसरे की इबादतगाह को तोड़कर हम अपनी इबादतगाह बनाये।
बाबर मस्जिद के नाम पर बहुत राजनिति कर रहे लोग क्या थे और अब क्या हो गये अब तो अपनी दुकानों के शटर बंद कर देनी चाहिए बाबरी मस्जिद के नाम अब और कितना कमाओगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.