प्रयागराज में सोमवार की देर रात घर के सामने कुर्सी पर बैठे एक सराफा कारोबारी को दो नकाबपोश बदमाशों ने गोली मार दी। गंभीर रूप से घायल कारोबारी को अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। हत्या के पीछे पुरानी रंजिश बताई जा रही है। पांच-छह माह पहले भी कारोबारी पर हमला हुआ था। एसपी यमुनापार सौरभ दीक्षित का कहना है कि बालू कारोबार को लेकर कारोबारी रामराज की दुश्मनी थी। आशंका है कि उसी में मर्डर हुआ है। जांच के बाद ही स्थिति स्पष्ट होगी।

हंडिया का रहने वाला था रामराज

मूलतः गंगापार के हंडिया तहसील के धोबहा गांव के रहने वाले रामराज सोनी (45 साल) लगभग 20 वर्ष पहले यहां करछना थाना क्षेत्र के बरदहा गांव में आकर रहने लगे थे। यहां पर उन्होंने अपना घर बना लिया था। वह सराफा की दुकान चलाते थे। साथ में बालू-गिट्टी का भी साइड में कारोबार करते थे।

सोमवार रात करीब 8.30 बजे वह दुकान बंद करके घर आए और बाहर कुर्सी पर बैठ गए। उनकी पत्नी सीमा सोनी बच्चों के साथ घर के अंदर खाना बना रही थीं। उसी समय दो नकाबपोश बदमाश आए और पिस्टल से रामराज सोनी के सीने में गोली मार दी। एक ही गोली में रामराज वहीं ढेर हो गए। फायरिंग की आवाज सुनकर जब लोग पहुंचे, तब तक बदमाश भाग चुके थे।

शहर के अस्पताल ले जाते वक्त रास्ते में हो गई मौत

पहले उन्हें सीएचसी करछना ले जाया गया। वहां हालत गंभीर बताते हुए चिकित्सक ने जिला अस्पताल रेफर कर दिया। शहर ले जाते वक्त रास्ते में ही रामराज सोनी की मौत हो गई, जिससे परिजनों में कोहराम मच गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.