दिल्ली के जहाँगीरपुरी सहित देश के अन्य राज्यों में भी अवैध निर्माण की आड़ में जो बुलडोजर चलाये जा रहे हैंजिसमें गरीब लोग भी प्रभावित हो रहे हैं, जबकि सरकार को उन अधिकारियों के विरुद्ध भी सख्ती करनी चाहियेजिनके भ्रष्टाचार की वजह से ही अवैध निर्माण हो रहे हैं

देश में जहाँ भी दंगे व हिंसा होती है तो वहाँ कार्रवाई के नाम पर तुरन्त बुलडोजर चलाया जाये, जिसमें गरीब लोग भी पिस रहे हैं, यह उचित नहीं, बल्कि जो मूल दोषी हैं तो उनके विरुद्ध ही सख्त कानूनी कार्रवाई होनी चाहिये।साथ ही, धर्म को भी इसके लिए इस्तेमाल करना,इससे देश में आपसी सद्भाव खत्म होगा तथा इसका देश विरोधी ताकतें भी गलत फायदा उठा सकती हैं।इस मामले में भी सरकारों को जरूर सोचना चाहिये। बी.एस.पी. की यह सलाह।

उत्तर प्रदेश सहित कई राज्यों में बुलडोजर कार्रवाई की जा रही. वहीं, आज बुधवार को दिल्ली के जहांगीरपुरी में हिंसा के बाद एमसीडी की ओर से अवैध निर्माण और आरोपियों की संपत्ति पर बुलडोजर चला. कई लोगों के घर और दुकानें मलबे में ढेर हो गए. कुछ देर बाद सुप्रीम कोर्ट ने कार्रवाई पर रोक लगाने का आदेश दिया. दो घंटे तक बुलडोजर कार्रवाई चली. आइए जानते हैं कि हाल-फिलहाल किन राज्यों में बुलडोजर चला है

योगी 2.0 का एक्शन- यूपी से लेकर दिल्ली तक बुलडोजर की गूंज 

28 मार्च – प्रयागराज में बाहुबली पूर्व सांसद अतीक अहमद के पुश्तैनी मकान पर बुलडोजर चला.

30 मार्च- लखनऊ के हजरतगंज इलाके में बसपा नेता फहाद के अपार्टमेंट पर चल रहा बुलडोजर.

3 अप्रैल 2022- लखनऊ में मनीष गुप्ता हत्याकांड केस में तिहाड़ जेल में बंद आरोपी पुलिस इंस्पेक्टर जगत नारायण सिंह के मकान पर बुलडोजर चला.

6 अप्रैल 2022 – पूर्व मंत्री हाजी याकूब कुरैशी के अवैध माई सिटी हॉस्पिटल को सील कर दिया गया

6 अप्रैल 2022 – कैराना विधायक नाहिद हसन के चाचा की अवैध संपत्तियों पर चला योगी का बुलडोजर.

7 अप्रैल 2022 – सपा विधायक शहजिल इस्लाम के पेट्रोल पंप पर चला बुलडोजर.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.