जौनपुर – सोमवार को बागपत जेल में माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी की हत्या कर दी गई। मंगलवार की सुबह भारी सुरक्षा के बीच सुबह 7 बजे मुन्ना बजरंगी का शव पहुंचते ही परिजन समेत ग्रामीणों और क्षेत्रीय लोगों में कोहराम मच गया। इस दौरान बजरंगी पत्नी सीमा सिंह सफेद साड़ी में में नजर आईं। मुन्ना के परिजन सरकार पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए जांच की मांग कर रहे हैं। मुन्ना बजरंगी के परिजनों ने कहा कि मुन्ना हमारे गांव का शेर था जो आज चला गया। हम उसकी मौत से काफी दुखी हैं। परिजनों ने योगी सरकार से बागपत जेल प्रशासन पर कड़ी कार्रवाई करने की मांग की। जानकारी के मुताबिक थोड़ी देर में अंतिम संस्कार वाराणासी के मणिकर्णिका घाट पर ले जाने की तैयारी चल रही है।

गौरतलब है कि प्रेम प्रकाश उर्फ मुन्ना बजरंगी पूर्वांचल का कुख्यात डॉन था। जिसकी सोमवार को बागपत जेल में हत्या कर दी गई। सोमवार को ही पूर्व बसपा विधायक लोकेश दीक्षित से रंगदारी मांगने के आरोप में बागपत कोर्ट में मुन्ना बजरंगी की पेशी होनी थी। मुन्ना बजरंगी को रविवार झांसी जेल से बागपत लाया गया था। उसे तन्हाई बैरक में कुख्यात सुनील राठी ओर विक्की सुंहेड़ा के साथ रखा गया था। इस हत्या के बाद उत्तर-प्रदेश सरकार ने बागपत जिला जेल के जेलर, डिप्टी जेलर सहित चार कर्मचारियों को निलंबित कर दिया है। जेल में माफिया डॉन की हत्या से अधिकारियों में हड़कंप मच गया है।

वहीं इस मामले में लखनऊ में राज्य के पुलिस उपमहानिरीक्षक (कानून एवं व्यवस्था) प्रवीण कुमार ने बताया कि शुरुआती जांच हत्या में कुख्यात अपराधी सुनील राठी का नाम सामने आ रहा है। सुनील राठी यूपी के साथ उत्तराखंड में सक्रिय है। सुनील की मां राजबाला छपरौली से बसपा से चुनाव लड़ चुकी है।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.