इत्र कारोबारी!पीयूष जैन पर आयकर का शिकंजा,पूछताछ
इत्र कारोबारी पीयूष जैन परडीजीजीआई और डीआरआई के बाद अब आयकर विभाग ने भी शिकंजा कस दिया है.
पीयूष से जेल में पूछताछ हुई उसके बाद आयकर विभाग ने उसके पिता, पत्नी, भाई और भाभी से भी लंबी पूछताछ की है.
आयकर विभाग ने पीयूष की पत्नी कल्पना जैन, पिता महेश चंद्र जैन, भाई अम्बरीश जैन और भाभी विजयलक्ष्मी जैन से पूछताछ की.उनसे 197 करोड़ रुपए और 23 किलो सोने के स्रोत के बारे में पूछा. मोडस आपरेंडी के बारे में पूछताछ की गई. सीज की गई रकम किसकी है या किसका हिस्सा है, इससे संबंधित सवाल किए गए.कारोबार की प्रकृति और इत्र व्यवसाय के बारे में पूछा गया. परिजनों का व्यापार में कितना दखल था और व्यापार में किसकी क्या जिम्मेदारी थी, इस संबंध में पूछताछ की गई.

क्या है पूरा मामला
कानपुर में इत्र कारोबारी पीयूष जैन के ठिकानों पर पड़े छापों में करीब 197 करोड़ रुपये कैश बरामद हो चुका है जो अब तक किसी प्रवर्तन दस्ते के द्वारा बरामद सबसे बड़ी रकम है जबकि कन्नौज स्थित पीयूष जैन के पैतृक आवास से टीम 23 किलो सोना और 6 करोड़ रुपये की कीमत का चंदन का तेल मिला था.
पीयूष जैन ने नोटों का जखीरा किस तरह से खड़ा किया, इसकी पोल अब धीरे-धीरे खुलनी शुरू हुई. पीयूष जैन ने कभी सोचा भी नही होगा कि आखिर कंपनी के टैक्स को चोरी के सरकार का चूना लगाना कितना घातक साबित हुआ.फिलहाल पीयूष कर चोरी के मामले में 5 माह से जेल में बंद है
ट्रक डाइवर की एक गलती और पीयूष सलाखों के पीछे

ट्रक ड्राइवर की एक गलती ने देश की सबसे बड़ी सीजीएसटी चोरी को अंजाम तक पहुंचा दिया था छापे से पहले गुजरात में करीब 3 महीने पहले जीएसटी विभाग ने 1 ट्रक पकड़ा, जिसमें शिखर पान मसाला लेकर जा रहे माल के साथ करीब 200 फर्जी इनवाइस पकड़ी गई. इसके बाद से ही डायरेक्ट्रेट जनरल ऑफ जीएसटी इंटेलीजेंस (डीजीजीआई) की टीम ने कानपुर में डेरा डाल दिया था फिर पीयूष की फैक्ट्री और आवास में छापे मारी की और रकम बरामद हुई.फिलहाल पीयूष को कर चोरी और 197 करोड़ नगद राशि बरामदगी पर पीयूष से पूछताछ की जा रही है और कार्रवाई पर कार्रवाई हो रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.