बहराइच– तीन तलाक और हलाला को लेकर छिड़ी देशव्यापी बहस के बीच बहराइच से चौंकाने वाली खबर सामने आई है। यहां तीन तलाक के बाद पति ने पत्नी को फिर से स्वीकार कर लिया तो उसका सामाजिक बहिष्कार कर दिया गया।

तीन दिन पहले बच्चे की मौत हो गई तो मौलवी की अगुआई में लोग उसे दफनाने का विरोध करने पहुंच गए। किसी तरह मामला सुलझा तो अब उसे गांव छोड़ने के लिए धमकाया जा रहा है। दबाव बनाया जा रहा है कि जब तक पत्नी का हलाला नहीं कराएगा उसका सामाजिक बहिष्कार जारी रहेगा। पीड़ित पति ने डीएम और एसपी को शिकायती पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई है।

बहराइच जिले के रामगांव थाना क्षेत्र के बौंडी फतेहउल्लापुर गांव निवासी खुशबुद्दीन खां ने गुस्से में तीन साल पहले पत्नी को तलाक दे दिया था। गुस्सा शांत होने के बाद वह फिर पत्नी के साथ रहने लगे। पति के साथ रहने वाले पत्नी का जबरन हलाला कराने को लेकर धर्म के ठेकेदारों ने पति पत्नी पर दबाव बना रहे है। खुशबुद्दीन एक मौलवी व कुछ अन्य लोगो पर जबरन पत्नी का हलाला कराने का दबाव बनाने की धमकी देने की बात कही है। हलाला न कराने पर मौलवी के इशारे पर उसका सामाजिक बहिष्कार कर दिया गया साथ ही गांव छोड़ने की धमकी दी जा रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.