बेहमई कांड की सुनवाई टली,अब 9 मई को होंगी कोर्ट की अगली कार्यवाही
बेहमई सामूहिक नरसंहार पर सुनवाई भी एक बार फिर से टल गई.मुकदमा स्पेशल जज एंटी डकैती कोर्ट में चल रहा है, इस मामले में भी अदालत ने अगली सुनवाई के लिए 9 मई तिथि तय की है. राजपुर थाने के बेहमई गांव में 14 फरवरी 1981 को दस्यु फूलन के गिरोह ने बीस लोगों को मौत के घाट उतार दिया था. काफी जद्दोजहद के बाद मामला सुलझने पर अभियोजन की बहस पूरी हुई. इस समय बचाव पक्ष की बहस जारी है, लेकिन कई तारीखों से बहस पूरी नहीं हो पा रही है.
क्या हुआ था बेहमई में
14 फरवरी 1981 को कानपुर देहात के बेहमई गांव में डकैत फूलन देवी और उसकी गैंग ने 26 लोगों को गोलियों से भून दिया था,इस कांड ने पूरे देश मे हड़कंप मचा दिया था वही आपको बता दे कि बेहमई कांड में 20 लोगों की मौत हुई थी और 6 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए थे.आज इस कांड के लगभग 41 साल पूरे हो चुके हैं मामला चार दशक से कोर्ट में है कोर्ट 20 सालों तक फूलन देवी का की हाजिर होने का इंतजार किया था.बता दे कि 2001 में फूलन देवी की हत्या के बाद कोर्ट का यह इंतजार भी खत्म हो गया था लेकिन, 39 साल बाद यानी 2020 में इस मामले में कोई फैसला आने की उम्मीद थी लेकिन, पता चला कि केस डायरी ही गायब हो गई थी तब से अदालत में तारीख पर तारीख मिल रही है इस केस में कुल 35 आरोपी बनाए गए थे जिसमें अब केवल 4 जिंदा हैं 15 लोगों की गवाही हुई है.

 

राजपुर थाने के बेहमई गांव में 14 फरवरी 1981 को दस्यु फूलन के गिरोह ने बीस लोगों को मौत के घाट उतार दिया था. काफी जद्दोजहद के बाद मामला सुलझने पर अभियोजन की बहस पूरी हुई. इस समय बचाव पक्ष की बहस जारी है, लेकिन कई तारीखों से बहस पूरी नहीं हो पा रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.