खुशी दुबे केस: फर्जी सिम मामले में सरकारी गवाह की मौत

बिकरु कांड की सह आरोपी खुशी दुबे पर फर्जी सिम मामले में सरकारी गवाह की मौत हो गई है.सुनावई के दौरान किशोर न्याय बोर्ड में पुलिस की रिपोर्ट पहुँचने पर जानकारी हुई की गवाह की मौत हो गई.सुनावई अब 13 जून को होगी.

क्या है पूरा मामला

बिकरू कांड की आरोपित खुशी दुबे पर चौबेपुर पुलिस ने फर्जी सिम रखने का मुकदमा दर्ज किया था. इस मामले की सुनवाई किशोर न्याय बोर्ड में चल रही है.मामले में अभियोजन की ओर से तीन गवाह संतराम, महेश के अलावा चंद्रपाल निवासी सुज्जा निवादा कानपुर नगर को बनाया गया था. पिछली तारीख पर पेश हुए दो गवाह संतराम और महेश ने खुशी को साफ तौर पर पहचानने से इनकार कर खुशी की बाबत पुलिस को कोई बयान देने से भी मना कर दिया था.मंगलवार को तीसरे गवाह चंद्रपाल की गवाही होनी थी. चौबेपुर पुलिस की ओर से रिपोर्ट पहुंची, जिसमें गवाह चंद्रपाल की 21 जनवरी 2022 को मौत हो जाने की जानकारी देने के साथ ही उसका मृत्यु प्रमाणपत्र भी दाखिल किया गया.
यह हुई थी घटना

बता दे कि 2-3 जुलाई 2020 को कानपुर के चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरु गांव में दबिश देने गई पुलिस पर कुख्यात बदमाश और उसके गुर्गे ने हमला कर दिया था .जिस पर डिप्टी एसपी समेत 8 पुलिसकर्मियों की मौत हो गई थी.जिस पर थर्राई पुलिस ने एनकाउंटर पर एनकाउंटर शुरू किए और 9 जुलाई 2020 को मुख्य आरोपी विकास दुबे को भी एनकाउंटर में ढेर कर दिया.वही मामले में अभी 45 आरोपी जेल में बंद है जिसमे 3 दिन की विवाहित खुशी दुबे भी है जिसे घटना का सहआरोपी बनाया गया है.

रिपोर्ट: आयुष तिवारी

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.