संभल – उत्तर प्रदेश के संभल में 35 वर्षीय महिला के साथ कथित रूप से गैंगरेप करने के बाद उसे मंदिर की यज्ञशाला में जिंदा जलाने वाले सभी मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया। पुलिस के मुताबिक महिला के साथ बलात्कार कर उसे जिंदा जलाने वाले सभी आरोपी महिला के रिश्तेदार थे। वारदात में 5 आरोपी शामिल थे जिन्होंने मिलकर शनिवार की रात महिला के घर में जबरन घुसकर उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया और उसके बाद घर के पास मौजूद मंदिर में उसे घसीटते हुए ले जाकर, मंदिर की यज्ञशाला में जिंदा जला दिया।

राजपुरा पुलिस स्टेशन के एसएचओ, वरुण कुमार ने बताया, ‘जांच के दौरान सामने आया है कि पांचों अभियुक्तों में से एक महिपाल, मृतक महिला के पति का दूर के रिश्ते का भाई है, जबकि अन्य चार अभियुक्त भी उसके रिश्तेदार ही हैं। हम पांचों अभियुक्तों को पकड़ने के लिए उनके रिश्तेदारों के यहां रेड डाल रहे हैं लेकिन अभी सभी अभियुक्त पुलिस की पकड़ से बाहर हैं।

बरेली में अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस (एडीजी) प्रेम प्रकाश ने रविवार को घटनास्थल का दौरा किया और यहां मौजूद साक्ष्यों का जायजा लिया। एडीजी ने कहा, ‘हमने पीड़ित की कॉल डिटेल्स के रिकॉर्ड और साथ ही लखनऊ में मौजूद डायल 100 के कंट्रोल रूम रिकॉर्ड को चेक किया है। 100 नंबर पर कोई कॉल नहीं था। शायद महिला ने प्रयास किया होगा लेकिन नेटवर्क समस्या के चलते उसके कॉल नहीं लग पाया होगा। इसके अलावा फरेंसिक टीम जांच में जुटी है। फरेंसिक टीम यह भी जांच कर रही है कि क्या महिला को जिंदा जलाने से पहले उसके साथ बलात्कार हुआ था?’

सामूहिक बलात्कार के बाद महिला को जिंदा जलाने की दिल दहला देने वाली यह घटना राजपुरा पुलिस स्टेशन क्षेत्र के एक गांव में शनिवार देर रात को हुई। पुलिस का कहना है कि जब देर रात में महिला अपने घर में सो रही थी, तब आरोपी हमलावर महिला के घर में जबरदस्ती घुस गए और इसके उन्होंने महिला के साथ सामूहिक बलात्कार किया।

बाद में इन अभियुक्तों महिला को पास के मंदिल में घसीटते हुए ले जाकर वहां स्थित यज्ञशाला में जिंदा जला दिया। पुलिस ने पांचों अभियुक्तों के खिलाफ ‘आईपीसी की धारा 376D (गैंगरेप), 302 (मर्डर), 201 (जुर्म के सबूतों को मिटाना), 147 (दंगों के लिए सजा) और 149 के तहत एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.