पानीपत नहर में डूबे जर्मनी के सपने

जर्मनी जाने के लिए दिल्ली स्थित एंबेसी में इंटरव्यू देकर लौट रहे दो दोस्तों की कार दिल्ली पैरलल नहर में जा गिरी। हादसा टायर फटने के कारण ​​​​सामलखा के नारायणा और बुडशाम गांव के बीच हुआ। दोनों शीशा तोड़कर कार के ऊपर आ गए, लेकिन कार के डूबने के बाद दोस्त भी डूब गए। लोगों की सूचना पर समालखा पुलिस ने देर रात क्रेन से कार को बाहर निकाला, लेकिन गुरुवार शाम तक भी दोनों दोस्तों का कोई सुराग नहीं लगा।

विकास नगर निवासी सुरेंद्र ने बताया कि वह प्राइवेट जॉब करते हैं। उनका 12वीं पास इकलौता बेटा जतिन अपने TDI निवासी दोस्त नीरज के साथ उसकी मारुति रिट्ज कार से 25 दिसंबर को दिल्ली स्थित एंबेसी में इंटरव्यू देने गए थे। 12वीं के बाद दोनों को पढ़ाई के लिए जर्मनी जाना था। 27 दिसंबर को इंटरव्यू देने के बाद शाम को दोनों कार से पानीपत लौट रहे थे। पुलिस से सूचना मिली की उनकी कार समालखा के गांव नारायणा और बुडशाम के पास दिल्ली पैरलल नहर में गिर गई है। वह देर रात ही मौके पर पहुंचे। पुलिस ने देर रात कार को तो क्रेन से बाहर निकाल लिया, लेकिन दोनों का कोई पता नहीं लगा।

टायर फटने के बाद नहर में गिरी कार
प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि गुरुवार शाम करीब 7 बजे दोनों दोस्तों की कार दिल्ली की तरफ से आ रही थी। नारायणा गांव से कुछ आगे आने पर युवकों की कार की पिछला टायर फट गया। जिसके बाद अनियंत्रित होकर कार नहर में जा गिरी। मशक्कत के बाद दोनों दोस्त शीशा तोड़कर कार के ऊपर चढ़ गए। पानी के बहाव के साथ कार पलटते हुए डूब गई। तैरना न आने के कारण दोनों दोस्त भी पानी के बहाव में बह गए। बाहर खड़े लोगों को भी तैरना नहीं आता था। इसलिए वह शोर मचाने के अलावा कुछ न कर सके।

7 मार्च को है नीरज का जन्मदिन
TDI निवासी नीरज के पिता मुल्तान सिंह ने बताया कि वह आर्मी से रिटायर्ड हैं। नीरज उनका बड़ा बेटा है। 7 मार्च को नीरज का जन्मदिन है। नीरज के अलावा बेटा खुशहाल है।

पिता का आरोप- नहीं बुलाए गोताखाेर
मुल्तान सिंह का आरोप है कि पुलिस ने उनके बेटे व उसके दोस्त को ढूंढने में रुचि नहीं दिखाई। गोताखोर नहीं बुलाए गए, केवल बोट से ही तलाश की गई। न ही नहर का पानी कम कराया गया। यदि पानी में उतरकर तलाश की जाती तो शायद कुछ सफलता मिलती। उधर, समालखा थाना प्रभारी ने बताया कि अधिक सर्दी के कारण गोताखोर नहीं मिल रहे हैं। इसके बावजूद 3 गोताखोरों ने काफी देर युवकों की तलाश की, लेकिन वह नहीं मिले। अब शुक्रवार को अन्य गोताखोरों से तलाश कराई जाएगी।

Like us share us

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *