झांसी  ,के महारानी लक्ष्मीबाई मेडिकल कालेज की एक बार फिर बड़ी लापरवाही देखने को मिली। यहां आये सड़क दुर्घटना में घायल युवक का डॉक्टरों ने एक पैर काटा और फिर उसका पैर सिरहाने तकिया बनाकर लगा दिया। जिसे देख किसी के भी रोंगटे खड़े हो रहे थे।

झांसी के लहचूरा थाना क्षेत्र के ग्राम इटायल से एक स्कूल बस बच्चों को लेकर मऊरानीपुर जा रही थी। तभी रास्ते में ट्रैक्टर को बचाते समय बस अनियंत्रित होकर पलट गई। जिससे उसमें सवार बस क्लीनर घनश्याम समेेत आधा दर्जन बच्चे घायल हो गये थे। क्लीनर की हालत गम्भीर होने के कारण झांसी मेडिकल कालेज रेफर कर दिया गया था। यहां डॉक्टरों ने उपचार के दैरान उसका बायां पैर काट दिया। इसके बाद उसका पैर उसके सिरहाने तकिया बनाकर लगा दिया। जब घायल का बेहनोई जानकी प्रसाद वहां पहुंचा तो यह देख वह घबरा गया। उसने डॉक्टरों से कई बार पैर हटाने के लिए कहा। लेकिन पैर नहीं हटाया गया। आखिर में उसने स्वयं ही पैर हटाकर अलग रखा।
जानकी प्रसाद घायल का बहनोई
(हम जब हॉस्पिटल पहुंचे तो मेरे मरीज के सर के नीचे उसका ही पैर रखा हुआ था लगभग दो घंटे तक ये पैर रखा रखा जब हमने तकिया लाकर दिया तब उन्होंने पैर को हटाया)
( झाँसी उसका पैर कटा हुआ आया था और मरीज की हालत गंभीर थी पैर कटा हुआ लेकर आये थे डाक्टर तुरंत उसके ट्रीटमेंट में लग गए उसके बाद मरीज का सर ऊपर करने के लिए कहा तो उनके ही तीमारदार ने ही उस पैर को उसके सर पर लगा दिया हमने एक कमेटी बना दी है अगर हमारा स्टाप दोषी होगा तो कारबाही होगी )

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.