लखनऊ – जिलाधिकारी द्वारा चलाए जा रहे अमान्य विद्यालयों को शत-प्रतिशत बंद कराने संबंधी अभियान के तहत बुधवार को खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय के सभागार में जिला विद्यालय निरीक्षक लखनऊ मुकेश कुमार सिंह ने काकोरी विकासखंड क्षेत्र के समस्त मान्यता प्राप्त विद्यालय के संचालकों के साथ एवं परिषदीय विद्यालय के खंड शिक्षा अधिकारी मधुलिका बाजपेई एवं एवं समस्त बीआरसी एवं एनपीआरसी के नेतृत्व में बैठक कर काकोरी क्षेत्र में चलाए जा रहे अमान्य विद्यालयों को बंद करा कर मान्यता प्राप्त एवं परिषदीय विद्यालयों में बच्चों के नामांकन शत-प्रतिशत कराने पर जोर दिया।

डीआईओएस ने बताया कि लखनऊ जनपद में कोई भी मान्यता प्राप्त विद्यालय अब किसी प्रकार से शिक्षण कार्य नहीं कर सकेगा इसके लिए जिला स्तर से लेकर ब्लॉक स्तर तक बड़ी योजना बनाई गई है इसी के तहत मान्यता प्राप्त विद्यालय के संचालक पूर्ण रुप से सहयोग करें और प्रशासन अमान्य विद्यालयों पर सख्त से सख्त कार्रवाई करेगा। किसी भी हालत में 2 जुलाई से गैर मान्यता प्राप्त विद्यालय नहीं खुलने चाहिए साथ ही जिला विद्यालय निरीक्षक ने शिक्षा उन्नयन गोष्ठी के अंतर्गत शैक्षिक गुणवत्ता बढ़ाने एवं छात्रों में सामाजिक एवं सांस्कृतिक विधा को बढ़ाने के लिए भी जोर दिया।

डीआईओएस ने कहा कि किसी भी छात्र को शिक्षा से वंचित नहीं रखा जा सकता इसके लिए घर-घर जाकर जो बच्चे विद्यालय नहीं आ रहे हैं उनको विद्यालय में नामांकित कराना अति आवश्यक है जिससे सभी बच्चे शिक्षित हो सके। इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से जिला विद्यालय निरीक्षक मुकेश कुमार सिंह खंड शिक्षा अधिकारी मधुलिका बाजपेई एबीआरसी उषा तिवारी मुकुल पांडे महेंद्र सिंह ललिता दीक्षित हमीरपुर एवं सरोज नगर की एबीआरसी गीता वर्मा शिक्षामित्र संघ के जिला अध्यक्ष लखनऊ सुशील कुमार यादव समस्त एनपीआरसी एवं अध्यापक गण उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.