दिल्ली – कांग्रेस ने रविवार को जीएसटी के एक साल पूरा होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार पर हमला बोलते हुए जीएसटी नकामियां गिनाईं, कांग्रेस की तरफ से कहा गया कि जीएसटी व्यापारियों के बीच एक बुरा शब्द बन गया है। कांग्रेस नेता और पूर्व वित्तमंत्री पी.चिदंबरम ने मीडिया से कहा, जीएसटी की रूपरेखा, ढांचा, दर और अनुपालन में इतनी खामियां हैं कि व्यापारियों, नियार्तकों और आम लोगों के बीच में यह एक बुरा शब्द बन गया है।

पी.चिदंबरम ने कहा कि जीएसटी को लेकर एक वर्ग जो काफी खुश दिखाई दे रहा है, वह कर प्रशासन है, जिसने असाधारण शक्तियां हासिल कर ली हैं और वह मध्यम व्यापारियों व आम नागरिक को डराता है। उन्होंने कहा कि जीएसटी संविधान संशोधन विधेयक की शुरुआत से लेकर अबतक जीएसटी के संबंध में भाजपा सरकार द्वारा उठाए गए प्रत्येक कदम में खामियां हैं। चिदंबरम ने कहा कि कुल मिलाकर परिणाम यह है कि आज जो हमारे पास है, वह एक बिल्कुल अलग प्रणाली है और यह असली जीएसटी नहीं है। चिदंबरम ने कहा कि जीएसटी में कई दरों, जिसमें 40 फीसदी तक की दर शामिल हैं और दरों पर मनमाना उपकर लगाने से ‘जीएसटी का विचार विकृत हो गया है।

चिदंबरम ने कहा कि रिफंड में देरी से फर्मों की महत्वपूर्ण कार्यशील पूंजी बाधित हो गई है। व्यापक रूप से माना जाता है कि जीएसटी ने आम नागरिक पर कर के बोझ को बढ़ा दिया है। उन्होंने कहा कि सच यह है कि जीएसटी को व्यापारियों पर ऐसे समय थोपा गया जब न तो व्यापारी इसके लिए तैयार था और न ही देश फिर भी यह व्यवस्था देशवासियों पर ठोप दी गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.