बुलन्दशहर- बसपा से दो बार विधायक रह चुके हाजी अलीम (57) की संदिग्ध हालात में उनके आवास ऊपरकोट में मौत हो गई है। पारिवारिक सूत्रों का कहना था कि आज सुबह ब्रेन हैमरेज से उनका निधन हुआ। घटना के बाद पुलिस आला अधिकारियों के साथ फॉरेंसिक टीम मौके पर पहुंच गई है। पुलिस टीम को कमरे में गोली लगा शव मिला है। वहीं कमरे में शव के पास पिस्टल भी मिली है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस का कहना है कि रिपोर्ट आने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

एसएसपी केबी सिंह के मुताबिक अलीम के पीआरओ ने तहरीर दी है, जिसमें बताया गया है कि दरवाजा तोड़कर देखा गया तो विधायक का शव कमरे में खून से लथपथ पड़ा था। मौके से पुलिस को 30 बोर की पिस्टल मिली है। माना जा रहा है इसी पिस्टल से गोली चली थी, पुलिस ने पिस्टल को कब्जे में ले लिया है।
हाजी अलीम 2007 और 2012 में बसपा के टिकट पर बुलंदशहर सदर सीट से विधायक चुने गए थे। 2017 के चुनाव में उन्हें बीजेपी के वीरेंद्र सिरोही ने हरा दिया था। शहर में हाजी अलीम की मौत के कारणों को लेकर तरह-तरह की चर्चाएं हैं। पूर्व विधायक की मौत की जानकारी मिलते ही बड़ी संख्या में समर्थकों का हुजूम आवास पर पहुंचना शुरू हो गया है। भीड़ इतनी है कि लोगों को अंतिम दर्शन करने में इंतजार करना पड़ रहा है। भीड़ को देखते हुए पुलिस प्रशासन भी हरकत में आ गया है। पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई है। अंतिम दर्शन के लिए हजारों की भीड़ उनके आवास पर डटी हुई है।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.