पाकिस्तान में चुनावी रैली को निशाना बना धमाका हुआ जिसमें 133 लोगों की मौके पर मौत हो गई और 125 अन्य लोग घायल हो गए। इस बार आतंकियों ने बलूचिस्तान प्रांत के मासतुंग क्षेत्र में (BAP)बलूचिस्तान अवाम पार्टी के नेता सिराज रायसानी की रैली को निशाना बनाया गया है।

बता दें कि रायसानी बलूचिस्तान के पूर्व मुख्यमंत्री नवाब असलम रायसानी के भाई हैं जो कि बलूचिस्तान अवाम पार्टी के नेता हैं। इस घटना पर जिला पुलिस अधिकारी अयूब अचकजई ने बताया कि रायसानी हमले में घायल हो गए थे जिन्होंने अस्पताल में दम तोड़ दिया। पुलिस अधिकारियों के अनुसार इस्लामिक स्टेट समूह (ISIS)  ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है।

बीडीएस के अधिकारियों की मानें तो ये एक आत्मघाती हमला था जिसमें करीब 16-20 किलोग्राम विस्फोटक का उपयोग किया गया था। वहीं इस घटना के बाद क्वेटा के अस्पतालों में इमरजेंसी जैसे हालात उत्पन्न हो गए हैं।

इस हमले से कुछ ही देर पहले खैबर पख्तूनख्वा के बन्नू इलाके में मुत्ताहिदा मजलिस अमाल नेता अकरम खान दुर्रानी की रैली में भी विस्फोट किया गया था जिसमें 5 लोगों की मौत की खबर है जबकि 37 लोगों के घायल होने की बात कही जा रही है। गनीमत ये रही की इस हमले दुर्रानी को कोई नुकसान नहीं हुआ बल्कि उनका वाहन क्षतिग्रस्त हुआ था।

गौरतलब है कि पाकिस्तान में 25 जुलाई को आम चुनाव होने वाले हैं जिससे पहले ही आतंकवादी इन घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। इससे पहले भी 10 जुलाई को पेशावर में एक चुनावी बैठक में हमला बोला गया था जिसमें 14 लोगों की मौत हो गई ती और 7 लोग घायल हुए थे। उस हमले में नेशनल अवामी पार्टी के नेता हारून की मृत्यु भी हो गई थी।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.