लखनऊ – यूपी के नए मुख्य सचिव अनूप चंद्र पांडेय ने शनिवार को अपना पदभार ग्रहण संभाल लिया। अनूप चंद्र पांडेय ने शनिवार को एनेक्सी पहुंचकर चार्ज लिया। 1984 बैच के वरिष्ठ आईएएस अधिकारी अनूप चंद्र पांडेय आज रिटायर हो रहे मुख्य सचिव राजीव कुमार का स्थान लिया, अनूप चंद्र वित्त विभाग के प्रमुख सचिव, ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के चेयरमैन के पद पर भी रहे चुके हैं। अनूप चंद पांडेय मुख्यमंत्री योगी सहित बीजेपी और संघ के भी कई बड़े नेताओं के करीबी माने जाते हैं।  प्रमुख सचिव वित्त रहते अनूप चंद्र पांडेय ने यूपी सरकार की सबसे बड़ी चुनावी घोषणा को पूरा करने में अहम रोल अदा किया, यह घोषणा थी, यूपी के 86 लाख किसानों के 36 हजार करोड़ की कर्ज माफी की । इसमें किसानों को चिन्हित करने से लेकर बैंक तक से समन्वय स्थापित करने और कर्ज माफी में अहम रोल अदा करने के साथ-साथ इन्वेस्टर्स समिट से उत्तर प्रदेश सरकार की छवि देश ही नहीं दुनिया में भी स्थापित हुई, इससे यूपी में रोजगार और विकास के नए आयाम भी स्थापित हुए। वर्तमान में उस इन्वेस्टर समिट की देन है कि बुंदेलखंड में डिफेन्स कॉरिडोर और वाराणसी में आईटी सेक्टर, मिर्जापुर में सोलर पावर प्लांट समेत कई बड़े बिजनेस स्थापित हो रहे हैं, जो यूपी के लाखों युवाओं को रोजगार देंगे। शायद यही कारण है कि अनूप चंद्र पांडे को मुख्यमंत्री योगी की ओर से मुख्य सचिव के तौर पर चुना गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.