वीडी न्यूज़

 

लखनऊ। गोमतीनगर एक्सटेंशन में एप्पल कम्पनी में   एरिया मैनेजर के पद पर तैनात  पुलिस के दो सिपाहियों ने गोली मार दिया।जिससे इलाज़ के दौरान  मौत हो गई।मामला बीती शुक्रवार रात 1.30 बजे की घटना हैं।वहीं इस संबंध में एसएसपी कलानिधि नैथानी का कहना है कि रात को दोनों सिपाहियों द्वारा कार सवार को रोकने की कोशिश किया गया था।लेकिन कार सवार ने पुलिस को देख कार की रफ़्तार तेजकर भागने लगा। इस दौरान बाइक सवार दोनों पुलिस कर्मियों को टक्कर लग गई।जिसमें दोनों  सिपाहियों ने फायर झोंक दिया।और कार अनियंत्रित होकर डिवाइडर से टकरा गई। मौत का स्पष्ट कारण पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो पाएगी।

 

 

 

 

एप्पल कंपनी में जॉब करने वाली सना कहना है कि शुक्रवार रात करीब 1:30 बजे गोमतीनगर इलाक़े के सीएमएस स्कूल के पास वह अपने सहकर्मी विवेक उर्फ विनय तिवारी के साथ कार से सीएमएस स्कूल स्थित गोमतीनगर के पास कार कर दिया। तभी सामने से सफेद अपाचे सवार दो सिपाही आए। कार को रोकने का इशारा किया।जिससे वह कार भगाने लगे। उसी दौरान सिपाहियों द्वारा गोली चलने की आवाज सुनाई दी।वहीं सना का कहना है कि विवेक के सिर से खून निकलने लगा। गोली लगने से वह घबराया और गाड़ी भगा दी। तेज रफ़्तार में कार भगाने में कुछ दूर जाकर कार टकरा गई। दोनों पुलिसकर्मी अपनी बाइक वहीं छोड़कर भाग निकले।गंभीर हालात में विवेक को सना ने इलाज़ के लोहिया अस्पताल पहुंचाया जहां विवेक को मृत घोषित कर दिया ।

 

 

सना को नजर बंद का आरोप, बताया जा रहा है कि गोमती नगर के विनयखंड तीन स्थित मकान में मृतक विवेक की सहयोगी सना को उसके घर पर नजर बंद कर दिया गया है। सना सिपाहियों द्वारा विवेक को गोली मारे जाने की प्रत्यक्षदर्शी हैं।वही इस मामले में पुलिस का कहना है कि सना की सुरक्षा के लिए पुलिस लगाई गई है।

 

 

दोनों सिपाहियों को हिरासत में, रिपोर्ट अज्ञात के खिलाफ: मामले में पुलिस ने दो सिपाही प्रशांत चौधरी और संदीप को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है। वहीं सना की तहरीर पर अज्ञात सिपाहियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। एसएसपी कलानिधि नैथानी का कहना है कि मौके से विवेक की कार सिपाहियों की बाइक को टक्कर मारते हुए गई थी, जिससे वह क्षतिग्रस्त हो गई। विवेक की मौत दुर्घटना में हुई या गोली लगने से यह पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद मामला साफ हो पाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.