कोरोना महामारी में एएआइ एयरपोर्ट्स की महत्वपूर्ण भूमिका, जरूरी चिकित्सा उपकरणों की हो रही सुरक्षित और तीव्र डिलीवरी

 देश में कोरोना महामारी की दूसरी लहर के बीच एएआइ हवाई अड्डे चिकित्सा उपकरणों की तीव्र डिलीवरी में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण ने गुरुवार को इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि एएआइ एयरपोर्ट्स देशभर में टीकों, ऑक्सीजन और आवश्यक वस्तुओं के सुरक्षित वितरण की सुविधा प्रदान कर रहे हैं।

भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण अपनी सहायक कंपनी एएआइ कार्गो लॉजिस्टिक्स एंड एलाइड सर्विसेज कंपनी लिमिटेड (AAICLAS) के साथ मिलकर टीकों, ऑक्सीजन कंटेनरों और अन्य चिकित्सा उपकरणों की बड़ी मात्रा की खुराक के तीव्र और सुरक्षित वितरण की सुविधा के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है।

एक आधिकारिक बयान के मुताबिक, एएआइ हवाई अड्डे के कार्गो टर्मिनल टीकों और अन्य आवश्यक चिकित्सीय उपफकरणों के भंडारण, प्रसंस्करण और परिवहन के लिए एक महत्वपूर्ण केंद्र बन गए हैं। AAICLAS के साथ, देश भर के हवाई अड्डों के माध्यम से टीकों के सुरक्षित वितरण के लिए भारतीय वायु सेना (IAF) और ब्यूरो ऑफ सिविल एविएशन सिक्योरिटी (BCAS) के परामर्श से मानक संचालन प्रक्रियाएं की गईं।

विज्ञप्ति में कहा गया है कि एयरलाइंस के साथ संयुक्त रूप से काम करते हुए विभिन्न राज्य प्रशासन और अन्य हितधारक एएआइ एयरपोर्ट सुनिश्चित कर रहे हैं कि इन वैक्सीन खेपों को उतारने में कोई समय बर्बाद न हो और उन्हें कोल्ड चेन बनाए रखने के लिए कम से कम समय में राज्य के स्वास्थ्य विभाग को सौंप दिया जाए। विज्ञप्ति में कहा गया है कि डिलीवरी का समय तीन से 20 मिनट के बीच है और संबंधित विभाग को प्राथमिकता और वितरण पर तत्काल मंजूरी के लिए सभी व्यवस्थाएं हैं।

एएआइ ने कहा कि लगभग 281,000 किलोग्राम वजन वाले टीके की खेप को सात घरेलू एयरलाइंस द्वारा 400 से अधिक उड़ानों के माध्यम से 40 हवाई अड्डों पर पहुंचाया गया है। दिल्ली में AAICLAS CHQ में एक संचालन नियंत्रण केंद्र (OCC) स्थापित किया गया है, जहां टीकों के संचलन नियंत्रण को समन्वित किया जाता है।

वायुसेना द्वारा परिवहन किए गए ऑक्सीजन सिलेंडर के शिपमेंट को एएआइ एयरपोर्ट्स द्वारा भी सुविधा प्रदान की जा रही हैं। एएआइ के कोलकाता और चेन्नई हवाई अड्डे के माध्यम से देश भर में विभिन्न स्थानों पर ओमेसेटर्स और ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर्स भेजे गए।

Like us share us

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *