कश्मीर की वादियों में शूटिंग की तैयारी, अजय देवगन फिल्म्स, संजय दत्त प्रोडक्शंस जैसे बैनर लोकेशन देखने पहुंचे

आगामी परियोजनाओं की शूटिंग के लिए वादियां देखने पहुंचा बॉलीवुड प्रोडक्शन  हाउस - bollywood production house reached kashmir for upcoming projects

कश्मीर की खूबसूरत वादियां और बर्फीले पहाड़ एक बार फिर बॉलीवुड को आकर्षित कर रहे हैं। बॉलीवुड का एक प्रतिनिधि मंडल अपकमिंग फिल्मों की लोकेशन एक्सप्लोर करने के लिए 4 दिन की यात्रा पर कश्मीर पहुंचा है। भारत सरकार द्वारा 5 अगस्त 2019 को आर्टिकल 370 रद्द किए जाने से पहले बाहरी लोगों को कश्मीर छोड़ने की एडवाइजरी जारी की थी। फिर कश्मीर में कई महीनों का लॉकडाउन रहा। परिस्थितियों में सुधर आना शुरू ही हुआ था कि कोरोना वायरस के कारण मार्च 2020 में पूरे देश में लॉकडाउन लग गया। लेकिन करीब डेढ़ साल के अंतराल के बाद अब धीरे-धीरे वादियों में रौनक लौटने लगी है।

कई बड़े बैनर्स डेलीगेशन में शामिल

लोकेशन एक्सप्लोर करने पहुंचे डेलिगेशन में प्रोड्यूसर्स गिल्ड, मुंबई के प्रतिनिधियों के अलावा अजय देवगन फिल्म्स, संजय दत्त प्रोडक्शंस, रिलायंस एंटरटेनमेंट, रोहित शेट्टी फिल्म्स, जी स्टूडियो, श्री अधिकारी ब्रदर्स और SAB (मराठी), एंडेमोल, राजकुमार हिरानी फिल्म्स, एक्सेल एंटरटेनमेंट जैसे बॉलीवुड के बड़े बैनर्स भी शामिल हैं।

बैकड्रॉप उपलब्ध कराती है घाटी

घाटी पहुंचे प्रोड्यूसर्स कश्मीर की खूबसूरती से इतने मंत्रमुग्ध हुए हैं कि उन्होंने अपनी अपकमिंग फल्मों की शूटिंग यहां करने की इच्छा जाहिर की है। कश्मीर में शाहरुख खान और कटरीना कैफ स्टारर ‘जब तक है जान’ की शूटिंग कर चुके प्रोड्यूसर आशीष सिंह कहते हैं, “घाटी फिल्ममेकर्स को बैकड्रॉप उपलब्ध कराती है और इसमें न केवल बॉलीवुड, बल्कि दुनियाभर के फिल्ममेकर्स को शूटिंग के लिए आकर्षित करने का पोटेंशियल है।”

‘यह जगह एक कंप्लीट पैकेज है’

प्रोड्यूसर्स गिल्ड के CEO नितिन आहूजा कहते हैं कि वे कश्मीर के साथ अपने पुराने संबंधों को फिर से जीवित करना चाहते हैं, जहां कश्मीर फिल्ममेकर्स के लिए पसंदीदा बैकड्रॉप हुआ करता था। उन्होंने कहा, “हम कई लोकेशंस पर गए और हमें वे बहुत खूबसूरत लगीं। स्थानीय लोगों से भी हमें गर्मजोशी भरा रिस्पॉन्स मिला। खाना भी बहुत अच्छा है। यह जगह एक कंप्लीट पैकेज है।”

अजय देवगन प्रोडक्शंस की CEO मीना अय्यर ने भी कश्मीर की खूबसूरती की तारीफ की। उन्होंने कहा कि घाटी में फिल्म टूरिज्म का बहुत स्कोप है, जिसे कैप्चर किया जाना चाहिए।

फूड टूरिज्म के तौर पर भी प्रमोट
मशहूर कुकरी शो ‘खाना खजाना’ के होस्ट और पॉपुलर शेफ संजीव कपूर कहते हैं कि कश्मीर को फूड टूरिज्म के तौर पर भी प्रमोट किया जा सकता है। उनके मुताबिक, कश्मीर भारत की टॉप 3 एक्जोटिक फूड डेस्टिनेशंस में शामिल है। उन्होंने कहा, “मैंने कश्मीर का स्वादिष्ट खाना खाया है और मैं इसे दुनियाभर में प्रमोट करूंगा। कश्मीर के स्वादिष्ट भोजन को प्रमोट करने के लिए देशव्यापी अभियान की जरूरत है।”

90 के दशक में रुक गई थी शूटिंग

कश्मीर से बॉलीवुड का जुड़ाव बहुत पुराना है। डल झील, मुगल गार्डन, गुलमर्ग और पहलगाम बॉलीवुड की पसंदीदा लोकेशंस में शामिल हैं। 60 से 80 के दशक के बीच यहां ‘आरजू’, ‘कश्मीर की कली’, ‘जब जब फूल खिले’, ‘कभी-कभी’, ‘सिलसिला’, ‘सत्ते पे सत्ता’ और ‘रोटी’ समेत कई फिल्मों की शूटिंग हुई।

90 के दशक में उग्रवादियों के चलते कश्मीर में फिल्मों की शूटिंग रोक दी गई थी। हालांकि, उसके बाद ‘मिशन कश्मीर’ जैसी फिल्मों के जरिए मेकर्स यहां वापस आए। कश्मीर में शूट हुई फिल्में यहां के टूरिज्म के लिए सबसे अच्छी प्रमोटर साबित हुई हैं। यही वजह है कि टूरिज्म से जुड़े लोग नई शुरुआत के लिए बॉलीवुड को उम्मीद की नजर से देख रहे हैं।

शूटिंग में मदद कर रहा टूरिज्म डिपार्टमेंट

कश्मीर टूरिज्म के डायरेक्टर जी एन इतू कहते हैं, “टूरिज्म की ओपनिंग के बाद से कमर्शियल विज्ञापन और गानों की शूटिंग के लिए देश के क्षेत्रीय एंटरटेनमेंट हाउस के साथ-साथ कश्मीर को बॉलीवुड की ओर से भी बेहतर रिस्पॉन्स मिल रहा है।” उनके मुताबिक, जहां कश्मीर में फिल्ममेकर्स को नेचुरल बैकड्रॉप मिल जाता है तो वहीं टूरिज्म डिपार्टमेंट भी शूटिंग आसान करने में मदद कर रहा है।

भारी बर्फबारी ने की टूरिज्म की मदद

इस साल सर्दियों में कश्मीर का तापमान जीरो डिग्री से नीचे चला गया है। इसने यहां के टूरिज्म को पुनर्जीवित करने में मदद की है। भारी बर्फबारी ने सिंगर जुबिन नौटियाल, गुरु रंधावा, सलमान अली, म्यूजिक कंपोजर सलीम मर्चेंट, पूर्व एक्ट्रेस और मॉडल सना खान, टीवी होस्ट और एंकर आदित्य नारायण और बिजनेस टायकून अनिल अंबानी समेत कई सेलेब्स को गुलमर्ग पहुंचने के लिए मजबूर किया है।

Like us share us

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *