वीडी न्यूज़ काकोरी

लखनऊ।पश्चिम विधानसभा क्षेत्र के विधायक सुरेश श्रीवास्तव शनिवार उपभोक्ताओं से नए कनेक्शन में वसूली की शिकायत मिलने पर दुबग्गा उपखण्ड पर पहुंचे लेसा के एमडी को फोन कर तत्काल प्रभाव से हटाने को कहा था।और विधायक ने ट्विटर पर ट्वीट भी किया था।लेसा सेस 2 के सोसल मीडिया ग्रुप पर दुबग्गा उपखण्ड व सिरोसा उपखण्ड के दोनों जूनियर इंजीनियरो ने विधायक व नेताओं के  बारे में  अभद्रभाषा की  टिप्पणी किया ।

 

ध्यान रहे बीते शुक्रवार को उपखण्ड दुबग्गा में एसडीओ उपदेश अग्नोहोत्री द्वारा संविदा कर्मियों व लेसा के कर्मचारियों के लगातार उत्पीड़न से तंग आकर विद्युत कर्मचारी मोर्चा संगठन ने धरना प्रदर्शन किया ।और एसडीओ को बंधक बना लिया था।उसके बाद दोनों पक्षों में जमकर मारपीट हुई थी।हिन्दुस्तान अखबार में प्रकाशित खबर को प्रमुखता से लेकर विधायक ने शनिवार उपखण्ड दुबग्गा पहुँच गए।विधायक के आने की भनक लगते ही एसडीओ उपकेंद्र से भाग निकला था।विधायक ने अधीक्षण अभियंता ,अधिशासी अभियंता अनिल कुमार को जमकर फटकार भी लगाई थी।और लेसा के एमडी को फोन कर भ्रष्ट एसडीओ उपदेश अभिनेत्री को तत्काल प्रभाव से हटाने सहित विभागीय जांच करवाने का आदेश दिया था। विधायक उपकेंद्र से जाने के बाद दो जूनियर इंजीनियर ने लेसा सेस 2 ऑफिस के ग्रुप पर विधायक व नेताओं के खिलाफ अभद्र भाषा का ग्रुप में टीका टिप्पणी किया।

 

—जूनियर इंजीनियर लेसा के ऑफिस के ग्रुप पर क्या कहते हैं।सत्ताधारी विधायक के खिलाफ—

 

आनंद सिंह मरतौलिया और जूनियर इंजीनियर एफसीआई उपखंड सहित दुबग्गा उपखण्ड के दो उपखण्डों को देख रहे जूनियर इंजीनियर आनंद सिंह मरतौलिया व उपखण्ड सिरोसा के जूनियर इंजीनियर राहुल सिंह ने लेसा सेस 2 ऑफिस के ग्रुप पर सत्ताधारी पार्टी के विधायक सुरेश श्रीवास्तव के बारे में अपशब्द अभद्र भाषा का प्रयोग किया।जिसमें आनंद सिंह मरतौलिया ने लेसा के ऑफिस ग्रुप पर लिखा राजनीतिक हो रही है।संगठन को कड़े कदम उठाने की आवश्यकता है।आनंद ने फिर लिखा ?इससे पहले क्या कर रहे थे श्रीमान आज क्यों आना पड़ा बिजली घर में सरकार के कद्दावर नेता खुलेआम गुंडों का संरक्षण प्रदान है। को ग्रुप पर लिख कर पोस्ट किया है।

 

—गैर जनपद में ट्रांसफर  होने के बाद भी लेसा के अधिकारियों को चकमा देकर लम्बे समय से एक उपखण्ड में दो-दो पद पर जेई तैनात—

 

काकोरी के दुबग्गा उपखण्ड पर 4 वर्ष तैनात होने के बाद काकोरी मोड़ के चौधरी खेड़ा एफसीआई उपखन्ड पर दो वर्षों से तैनात हैं।जबकि आनंद सिंह मरतौलिया का एक वर्ष पहले ही गैर जनपद में ट्रांसफर हो चुका है बावजूद इसके अपने रसूख के बल पर पिछले 6 वर्षों से लगातार जूनियर इंजीनियर आनंद सिंह मरतौलिया पिछले 6 वर्षों से एक उपखण्ड पर जमे हुए है।वही लोगों की माने तो उपभोक्ताओं से वसूली के कई मामले में उपभोक्ताओं ने लेसा के कुछ अधिकारियों को  शिकायत भी की थी बावजूद इसके  किसी प्रकार की कार्यवाही  विभाग द्वारा नहीं हुई।

 

वही बिधायक सुरेस श्री वास्तव ने बताया कि जो जनता के हित मर काम नही करेगा और लोगो से धन उगाही करेगा ऐसे भर्स्ट अधिकारियों को तत्काल हटाना आवश्यक है जो  सरकार की छबि धूमिल कर रहे है

Leave a Reply

Your email address will not be published.