हाथरस : आरोपियों के हाथ काटने का बयान देने वाले कांग्रेस नेता श्योराज हिरासत में

  • कांग्रेस नेता को चंदपा पुलिस ने केस दर्ज करके समन जारी किया था
  • गुरुवार को पुलिस थाने में बयान दर्ज कराने पहुंचे थे श्योराज जीवन

उत्तर प्रदेश के हाथरस में दलित युवती के साथ कथित गैंगरेप और उसकी मौत के बाद दंगा होने जैसे भड़काऊ बयान देने वाले अलीगढ़ के कांग्रेस नेता श्योराज जीवन को पुलिस ने हिरासत में लिया है। दरअसल, बुधवार को हाथरस में चंदपा पुलिस ने श्योराज के खिलाफ केस दर्ज करके पूछताछ के समन जारी किया था। पुलिस ने 24 घंटे के भीतर उन्हें हाजिर होने के निर्देश दिए थे। गुरुवार को श्योराज बयान दर्ज कराने के लिए चंदपा थाने पहुंचे। यहां वे मीडिया के सवालों से बचते नजर आए। हालांकि उन्होंने यह जरूर कहा कि आज तक मुझ पर कोई भी केस नहीं है। एक चैनल ने मुझे देशद्रोही बना दिया। मैं अपना बयान देने आया हूं। कुछ नहीं कह सकता।

गिरफ्तारी हुई मगर अधिकारिक पुष्टि नहीं

दरअसल, श्योराज जीवन का एक टेलीविजन चैनल ने स्टिंग किया था। जिसमें वे हाथरस में जातीय दंगा होने की बात कह रहे थे। उन्होंने आरोपियों के हाथ काटने और आंखें निकालने की धमकी देते नजर आ रहे थे। इसका वीडियो सामने आने के बाद चंदपा पुलिस ने उनके खिलाफ केस दर्ज किया था। इसके बाद पुलिस ने उनके अलीगढ़ के थाना गांधी पार्क के सीसियापाड़ा स्थित आवास पर समन भेजा था। गुरुवार को श्योराज चंदपा थाने पहुंचे, जहां से पुलिस उन्हें किसी अन्य स्थान पर ले गई। जहां पूछताछ की जा रही है। इस दौरान श्योराज ने स्टिंग ऑपरेशन पर कुछ भी बोलने से इंकार कर दिया। सूत्रों की मानें तो पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया है। लेकिन अभी इसकी अधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है।

फेसबुक यूजर पर भ्रामक पोस्ट डालने पर मुकदमा दर्ज

फेसबुक पर हाथरस केस को लेकर भ्रामक पोस्ट डालने के आरोप में गुरुवार को शाहीन शेख नाम के यूजर पर केस दर्ज किया गया है। यह केस उप निरीक्षक ने दर्ज कराया है। शाहीन ने फेसबुक आईडी से पीड़िता के अलग-अलग फोटो बनाकर पोस्ट किए थे। जिससे जिले का माहौल खराब होने की आशंका जताई गई। इंस्पेक्टर जगदीश चंद्र ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है।

एसआईटी ने गांव के 40 लोगों को पूछताछ के लिए बुलाया

हाथरस केस की जांच कर रही एसआईटी ने गुरुवार को बुलगढ़ी गांव के 40 लोगों को पूछताछ के लिए पुलिस लाइन बुलाया है। इन सभी को बयान दर्ज कराने के लिए नोटिस जारी किया गया है। पुलिस लाइन के प्रशासनिक भवन में एसआईटी ग्रामीणों का बयान दर्ज कर रही है।

Like us share us

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *