हाथरस केस: वकील सीमा की कोर्ट से अपील- हम केस को दिल्ली ट्रांसफर कराना चाहते

उत्तरप्रदेश के हाथरस में 19 साल की दलित युवती के साथ कथित गैंगरेप और उसकी मौत के मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरू हो गई है। चीफ जस्टिस एसए बोबडे ने पीड़ित पक्ष से पूछा- अभी क्या आदेश चाहते हैं। इस पर वकील सीमा कुशवाहा ने कहा कि हम मुकदमे को दिल्ली में ट्रांसफर कराना चाहते हैं और सीबीआई जांच कोर्ट की निगरानी में हो, यह भी मांग करते हैं। दरअसल, पीड़ित पक्ष ने इस मामले में 6 अक्टूबर को याचिका लगाकर गवाहों की सुरक्षा पर चिंता जताई थी। इस पर सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार से जवाब मांगा था।

यूपी सरकार ने कहा- गवाहों को तीन स्तर की सुरक्षा दी, घरों पर सीसीटीवी लगाए

योगी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में बुधवार को हलफनामा दायर किया। इसमें सुप्रीम कोर्ट से मांग की गई है कि वह मामले की सीबीआई जांच अपनी निगरानी में कराए। यह जानकारी भी दी गई है कि गवाहों को तीन स्तर की सुरक्षा मुहैया कराई जा रही है। गवाहों और पीड़ितों के घर में सीसीटीवी लगाए गए हैं। नाके पर और घर के बाहर पुलिस का पहरा है। हलफनामे में इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच में हुई सुनवाई का हवाला भी दिया गया है।

आरोपियों के परिवार वालों से पूछताछ करने गांव पहुंची सीबीआई

  • हाथरस केस में सीबीआई जांच का पांचवां दिन है। सुबह जांच टीम के दो अफसर चंदपा कोतवाली पहुंचे। यहां करीब 25 मिनट पुलिसकर्मियों से पूछताछ के बाद वे आरोपियों के परिवार से पूछताछ करने के लिए बुलगढ़ी गांव पहुंचे। अलीगढ़ और हाथरस के उन डॉक्टरों से भी पूछताछ की जा सकती है, जिन्होंने पीड़ित की जांच और इलाज किया था। सीबीआई ने बुधवार को पीड़ित के दोनों भाइयों और पिता से करीब सात घंटे तक पूछताछ की थी।
  • इससे पहले मंगलवार को सीबीआई टीम घटनास्थल और अंतिम संस्कार वाली जगह पहुंची थी। इस दौरान फोरेंसिक एविडेंस भी जुटाए गए थे। सीबीआई अफसर पीड़ित के बड़े भाई को पूछताछ के लिए साथ ले गए थे। देर शाम उसे पुलिस सुरक्षा में घर भेज दिया था। परिवार के दूसरे सदस्यों से भी बातचीत की गई थी। इस टीम ने क्षेत्र के चंदपा थाने के पुलिसकर्मियों से भी पूछताछ की थी।
Like us share us

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *