नई इकाइयों के स्थापना से 25 लाख नये रोजगार मिले;नवनीत सहगल

प्रदेश में निरन्तर धान खरीद की समीक्षा की जा रही है

कल से फोकस सैम्पलिंग के दूसरा चरण का अभियान चलाया जायेगा

यह अभियान 19 नवम्बर, 2020 से 30 नवम्बर, 2020 तक कुल 12 दिन चलाया जायेगा

फोकस सैम्पलिंग के माध्यम से कोविड संक्रमित लोगों की पहचान की जायेगी

लखनऊ) । उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल ने लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए

बताया कि दिल्ली में संक्रमण बढऩे से प्रदेश के सीमावर्ती जनपदों में कुछ केस की बढ़ोत्तरी हुयी है जबकि अन्य जनपदों में संक्रमण की दर कम हुयी है।

प्रदेश सरकार द्वारा कान्टैक्ट ट्रेसिंग व सर्विलांस के माध्यम से कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में डब्ल्यूएचओ (विश्व स्वास्थ्य संगठन) ने तारीफ की है।

मुख्यमंत्री ने विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा इस प्रकार की गयी प्रदेश की तारीफ के लिए इस अभियान में लगे सभी अधिकारी/अधीनस्थ कर्मचारियों को बधाई दी है

और यह विश्वास जताया है कि इसी तन्मयता से टीम काम करती रहेगी और यह प्रयास करती रहेगी कि कोरोना के संक्रमण को घटाया जा सके।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में संक्रमण कम होने से हॉटस्पॉट व कन्टेनमेंट जोन में कमी आयी है।


सहगल ने बताया कि प्रदेश में आर्थिक गतिविधियां और अधिक तेजी से बढ़ें, इसके लिए प्रदेश सरकार निरन्तर प्रयास कर रही है।

इसके अतिरिक्त रोजगार के अवसर सृजित करने के लिए तथा आर्थिक गतिविधियां को और बढ़ाने के लिए सरकार के प्रोत्साहन से नई एमएसएम0ई0 इकाइयां खुल रही है।

सूक्ष्म, लघु, मध्यम एवं वृहद श्रेणी की 8,18,269 इकाइयॉ क्रियाशील हैं, जिनमें  51.78 लाख श्रमिक कार्यरत हैं।

पुरानी इकाइयों को कार्यशैली पूंजी की समस्या से निजात दिलाने के लिए बैंकों से समन्वय करके आत्मनिर्भर पैकेज में 4.37 लाख इकाईयों को रू0 10,853 करोड के ऋ ण स्वीकृत कर वितरित किये जा रहे हैं।

प्रदेश में नये उद्योगों, की स्थापना के लिए 6 लाख 30 हजार नई एमएसएमई इकाइयोंं को बैकों द्वारा लगभग 18,350 करोड़ रूपये का ऋ ण दिया गया है।

नई इकाइयों के स्थापना से 25 लाख नये रोजगार मिले। बैकों के माध्यम से बैंकों के साथ समन्वय करके यह प्रक्रिया निरन्तर जारी है।

उन्होंने कहा कि नई ईकाइयों के माध्यम से रोजगार के नये अवसर भी सृजित होंगे।
श्री सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री द्वारा निरन्तर धान खरीद की समीक्षा की जा रही है।

इस संबंध में सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि किसानों के धान की खरीद समय से हो तथा उन्हें धान व मक्का का न्यूनतम समर्थन मूल्य अवश्य मिले।

धान और मक्का की खरीद का भुगतान किसानों को 72 घंटे के अन्दर सुनिश्चित किया जाये। मुख्यमंत्री ने कहा है कि जिलाधिकारी की यह जिम्मेदारी है

कि किसानों को किसी प्रकार की समस्या न हो तथा क्रय केन्द्र सुचारू रूप से कार्य करे। अधिकारियो/कर्मचारियों द्वारा लापरवाही करने पर उनके विरूद्ध कार्यवाही की गयी है

तथा शिकायत मिलने पर वरिष्ठ अधिकारियों को निलम्बित भी किया गया है। धान क्रय केन्द्र पर शिकायत मिलने पर जिलाधिकारी की जिम्मेदारी होगी।

धान क्रय केन्द्र्रों पर जिलाधिकारी तथा अधीनस्थ अधिकारियों द्वारा निरन्तर अनुश्रवण तथा आकस्मिक निरीक्षण करे। अब तक 127.63 लाख कुं. धान की खरीद की जा चुकी है।

जो पिछले वर्ष से बहुत अधिक है। अब तक किसानों से 1,06,712 कुं0 मक्का की खरीद की जा चुकी है। जो गत वर्षों से काफी अधिक है।

प्रदेश के अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने कहा कि प्रदेश में कल एक दिन में कुल 1,21,362 सैम्पल की जांच की गयी।

प्रदेश में अब तक कुल 1,73,31,490 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना सेे संक्रमित 2390 नये मामले आये हैं।

प्रदेश में 21,954 कोरोना के एक्टिव मामले हैं। होम आइसोलेशन में 9,672 लोग हैं। उन्होंने बताया कि अब तक कुल 2,94,165 लोग होम आइसोलेशन की सुविधा प्राप्त करते हुए

2,84,493 लोगों ने अपने होम आइसोलेशन की अवधि पूर्ण कर ली है।

उन्होंने बताया कि निजी चिकित्सालयों में 2163 लोग ईलाज करा रहे हैं, इसके अतिरिक्त बाकी मरीज एल-1, एल-2 तथा एल-3 के सरकारी अस्पतालों में अपना ईलाज करा रहे है।

उन्होंने बताया कि प्रदेश में विगत 24 घंटे में कोविड-19 से उपाचारित हो कर 2529 डिस्चार्ज हुए है।

अब तक कुल 4,87,221 कोविड-19 से ठीक होकर पूर्ण उपचारित हो चुके है। प्रदेश में कोविड-19 रिकवरी रेट 94.31 प्रतिशत हो गया है।

ई-संजीवनी के माध्यम से 24 घंटे में 3263 चिकित्सीय परामर्श लिए है।

अब तक कुल 02 लाख 15 हजार से अधिक लोग चिकित्सीय परामर्श ले चुके है। प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम 4,56,186 टीम दिवस के माध्यम से 2,89,26,145 घरों के 14,17,00,152 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है।

प्रसाद ने बताया कि कल से फोकस सैम्पलिंग का अभियान 19 नवम्बर, 2020 से 30 नवम्बर, 2020 तक कुल 12 दिन तक दूसरा चरण का अभियान चलाया जायेगा।

जिसमें 19, 20 तथा 21 नवम्बर को शहर के मलिन बस्तियों, 22 नवम्बर को अस्थायी/स्थायी जेलों में, 23 नवम्बर को बाल/बालिका सुधार गृह, 24 नवम्बर को वृद्धाश्राम व नारी निकेतन, 25 नवम्बर को रेहड़ी,

पटरी दुकानदारों आदि, 26 नवम्बर को कक्षा 09 से 12 के शिक्षण कार्य में लगे शिक्षकों एवं अन्य स्टाफ की, 27 नवम्बर को सभी सरकारी/प्राइवेट कार्यालयों में, 28, 29 व 30 नवम्बर को बाजारों/साप्ताहिक बाजारों में काम करने वाले व्यक्तियों की फोकस सैम्पलिंग की जायेगी।

फोकस सैम्पलिंग के माध्यम से कोविड संक्रमित लोगों की पहचान की जायेगी।

उन्होंने बताया कि वृद्धजन, गर्भवती महिलाएं, छोटे बच्चों तथा पूर्व में किसी अन्य बीमारी से ग्रसित लोगों का विशेष ध्यान रखा जाये।

संक्रमण से बचने के लिए मास्क के उपयोग नियमित हाथ धोने तथा उचित दूरी बनाये रखे।

उन्होंने कहा कि कोरोना से उपचारित लोगों को यदि कोई समस्या हो तो उनके लिए पोस्ट कोविड केयर सेन्टर भी कार्य कर रहे है।

Like us share us

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *