हाथरस केस: पीड़िता के घर पहुंची SIT, परिवार से की बातचीत

लखनऊ। हाथरस में युवती से सामूहिक दुष्कर्म और मौत के मामले की जांच के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक एसआईटी गठित की है। मुख्यमंत्री ने एसआई को 7 दिन के अंदर रिपोर्ट देने को कहा है। जांच के लिए 3 सदस्यों दल बुधवार शाम को चंदपा थाने के बूलागढ़ी गांव में पहुंचा और पीड़िता के परिवार से बातचीत की।
SIT की अगुवाई होम सेक्रेटरी भगवान स्वरूप कर रहे हैं। एसआईटी गांव में पहुंचकर ग्रामीणों सहित पुलिस अधिकारियों से भी बात करेगी। एसआईटी में पुलिस उपमहानिरीक्षक चंद्रप्रकाश और सेना नायक पीएसी (आगरा) पूनम भी शामिल हैं।
टीम ने सबसे पहले बूलागढ़ी में पीड़ित परिवार और गांव के लोगों से पूछताछ शुरू की है। घटनाक्रम की जानकारी लेने के बाद पीड़िता के परिवार को सांत्वना दी कि मुख्यमंत्री इस मामले में सख्त रुख अपनाए हुए हैं। जांच दल ने चंदपा के एसओ को भी पूछताछ के लिए बुलाया है। घटनास्थल का निरीक्षण भी करेंगे और हाथरस में पुलिस जांच अधिकारी बनाए गए सीओ सादाबाद से भी मामले की जानकारी ली गई है।


फास्ट ट्रैक में चलेगा मामला : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीडिता की मृत्यु पर दुख व्यक्त करते हुए ट्वीट किया कि घटना के आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलायी जाएगी। यह मामला फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलेगा। घटना की जांच के लिए तीन सदस्यीय विशेष जांच कमेटी (SIT) का गठन किया गया है जो अपनी रिपोर्ट एक सप्ताह के भीतर प्रस्तुत करेगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने घटना की जानकारी ली है और दोषियों को कड़ी सजा दिलाने के निर्देश दिए हैं।
योगी ने पीड़िता के परिवार को मदद की राशि 10 लाख से बढ़ाकर 25 लाख रुपए करने की घोषणा की है। इसके अलावा परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी और सूडा के अंतर्गत शहरी इलाके में एक आवास उपलब्ध कराया जाएगा। मुख्यमंत्री ने वीडियो कॉलिंग के जरिए पीड़िता के पिता से बात की और उन्हे भरोसा दिलाया कि दोषियों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा और सरकार उन्हें कड़ी सजा दिलाएगी।

Like us share us

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *