बिटकॉइन ने तोड़े सारे रेकॉर्ड, जानिए अब क्या हो गया है इसका रेट

साल के आखिरी दिन बिटकॉइन ने तोड़े सारे रेकॉर्ड, जानिए अब क्या हो गया है इसका रेट
नई दिल्ली ,31 दिसंबर । दुनिया की सबसे लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन साल के आखिरी दिन आज नए रेकॉर्ड पर पहुंच गई। बड़े निवेशकों के इसमें दिलचस्पी दिखाने के बाद आज यह 29000 डॉलर (भारतीय रुपयों में करीब 21 लाख 18 हजार) के स्तर को पार कर गई। इस तरह इस साल इसमें 300 फीसदी से अधिक की उछाल आ चुकी है। 16 दिसंबर को बिटकॉइन की कीमत पहली बार 20,000 डॉलर के पार पहुंची थी और तबसे इसमें करीब 50 फीसदी उछाल आया है।
दुनिया की सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन गुरुवार को हॉन्गकॉन्ग में 29292 डॉलर पर पहुंच गई थी। हालांकि इसके बाद इसमें थोड़ी गिरावट आई और सुबह 11.30 बजे यह 28972 डॉलर के भाव पर ट्रेड कर रही थी। दिसंबर में इसकी कीमत करीब 50 फीसदी चढ़ी है जो मई 2019 के बाद सबसे ज्यादा मासिक लाभ है।
बिटकॉइन पर बहस
हॉन्गकॉन्ग में क्रिप्टो ब्रोकरेज ओएसएल के हेड के प्रमुख मैट लॉन्ग ने कहा कि बिटकॉइन की कीमत में तेजी में सबसे अहम यह है कि यह कई हफ्तों से जारी है। इस साल बिटकॉइन की कीमत चार गुना हो चुकी है। बिटकॉइन की तेजी ने क्रिप्टोकरेंसीज को लेकर बहस तेज कर दी है। इसके निवेशक इसे डॉलर की कमजोरी और महंगाई बढऩे के जोखिम के खिलाफ हेज मानते हैं जबकि दूसरे लोग एसेट क्लास के तौर पर इसकी उपयोगिता पर सवाल उठाते हैं
सच्चाई यह है कि अमेरिका में बड़े निवेशक बिटकॉइन में दिलचस्पी दिखा रहे हैं जिसके कारण इसकी कीमत बढ़ रही है। क्वालिटीज और तुरंत रिटर्न देने की संभावना से यह लोकप्रिय हो रही है। साथ ही निवेशकों को उम्मीद है कि कभी न कभी यह मेनस्ट्रीम पेमेंट्स का हिस्सा बन जाएगी। तीन साल बाद बिटकॉइन की कीमतों में तेजी आई है। अक्टूबर से बिटकॉइन फंड्स में काफी पैसा निवेश हुआ है जबकि निवेशकों ने सोने से दूरी बनाई है। आने वाले लंबे समय तक इस ट्रेंड के बने रहने की संभावना है क्योंकि ज्यादा से ज्यादा इंस्टीट्यूशनल इनवेस्टर्स क्रिप्टोकरेंसीज का रुख कर रहे हैं। एसेट क्लास के तौर पर डिजिटल करेंसीज की लोकप्रियता लगातार बढ़ती जा रही है।
बिटकॉइन एक तरह की क्रिप्टोकरंसी है। क्रिप्टो का मतलब होता है गुप्त। यह एक डिजिटल करंसी है, जो क्रिप्टोग्राफी के नियमों के आधार पर काम करती है। इसकी सबसे खास बात ये है डिजिटल होने की वजह से आप इसे छू नहीं सकते। बिटकॉइन की शुरुआत 2009 में हुई थी। बिटकॉइन की कीमत लगातार बढ़ रही है। यह एक तरह की डिजिटल करंसी है। इसकी शुरुआत एलियस सतोशी नाम के शख्स ने की थी।

Like us share us

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *