यूपी के 8000 से ज्यादा कोचिंग सेंटर्स पर आई बड़ी खबर, लाखों बच्चों पर पड़ेगा असर

नई दिल्ली. स्कूलों को लेकर केंद्र सरकार की गाइडलाइंस के बाद अब उत्तर प्रदेश के 8000 से ज्यादा कोचिंग सेंटर्स ने भी अपने-अपने सेंटर खोलने की अनुमति मांगी है. कोविड19 के चलते लागू की गई बाध्यताओं का असर निजी स्कूलों के साथ इन कोचिंग सेंटर्स पर भी पड़ा है.

जहां कई कोचिंग सेंटर्स में बच्चों की मौजूदगी कम हुई, तो कई सेंटर लॉकडाउन लागू किए जाने के बाद से ही बंद हैं. बता दें कि केंद्र सरकार ने हाल ही में 21 सितंबर से नौवीं से लेकर 12वीं तक के स्टूडेंट्स के लिए स्कूल खोलने को मंजूरी दे दी है.

15 लाख बच्चे पढ़ते हैं कोचिंग सेंटर में
इस बारे में ग्रुप आफ कोचिंग सेंटर्स के अध्यक्ष हेमेंद्र कुशवाहा ने कहा, हमने राज्य सरकार से मांग की है कि हमें कोचिंग सेंटर खोलने की अनुमति दी जाए. बैच स्ट्रैंथ को कम करते हुए फिलहाल नौवीं और उससे उपर की कक्षाओं के बच्चों को पढ़ाने की ही अनुमति मांगी गई है. हायर एजुकेशन डिपार्टमेंट के अधिकारियों की मानें तो उत्तर प्रदेश में 8000 से ज्यादा कोचिंग सेंटर हैं, जिनमें 1.5 मिलियन यानी करीब 15 लाख बच्चे पढ़ते हैं. इनमें से अधिकतर बच्चे आठवीं या उससे उपर की क्लास के हैं. अकेले लखनऊ में 700 से ज्यादा सेंटर हैं.कुछ कोचिंग सेंटर्स ने शुरू की ऑनलाइन क्लास
इस बीच, कुछ कोचिंग सेंटर्स ऐसे भी हैं, जिन्होंने कोरोना काल में आनलाइन क्लासेज शुरू कर दी हैं. ऐसे ही एक कोचिंग सेंटर के मालिक ने बताया, पिछले साल हमारे पास 600 बच्चे थे. इनमें से 120 बच्चे आनलाइन क्लास ले रहे हैं. राज्य सरकार ने कोचिंग सेंटर्स खोले जाने को लेकर अभी तक कोई गाइडलाइंस जारी नहीं की है.

Like us share us

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *