9 अप्रैल तक NIA की कस्टडी में रहेगा वाझे, कोर्ट ने दी इजाजत, CBI भी करेगी पूछताछ

मुंबई. विशेष अदालत ने  राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) को सचिन वाझे की चार और दिनों की कस्टडी दे दी है. NIA ने वाझे से पूछताछ के लिए कोर्ट से चार और दिनों का समय मांगा था. वाझे के वकील ने NIA की मांग का विरोध नहीं किया. उन्होंने कहा कि उनके मुवक्किल (वाझे) पूछताछ में एजेंसियों का पूरा सहयोग करेंगे. हालांकि वाझे को हथकड़ी पहनाकर मुंबई के CSMT स्टेशन ले जाने पर उन्होंने आपत्ति जाहिर की

कोर्ट ने एनआईए की मांग को मानते हुए वाझे को 9 अप्रैल तक कस्टडी में भेज दिया. साथ ही कोर्ट ने सीबीआई को भी कस्टडी में वाझे से पूछताछ की इजाजत दे दी है. इससे पहले बॉम्बे हाईकोर्ट ने मंगलवार को CBI को मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह द्वारा महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ लगाए गए भ्रष्टाचार के आरोपों की 15 दिनों के भीतर प्रारंभिक जांच शुरू करने के लिए कहा है.

अनिल देशमुख को भी कोर्ट से झटका
याचिकाकर्ता डॉ. जयश्री पाटिल की ओर से बॉम्‍बे हाईकोर्ट में अपील करते हुए कहा गया था कि मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह के आरोपों की निष्‍पक्ष जांच की जानी चाहिए. मामले की सुनवाई करते हुए बॉम्‍बे हाईकोर्ट ने कहा, क्‍योंकि अनिल देशमुख गृहमंत्री हैं इसलिए पुलिस इस मामले में निष्‍पक्ष जांच नहीं कर पाएगी. ऐसे में इस मामले की जांच सीबीआई को सौंपी जाती है.
नए गृहमंत्री दिलीप वालसे पाटिल राज्य के नए गृहमंत्री NCP चीफ शरद पवार के करीबी दिलीप वालसे पाटिल बनेंगे. महाराष्ट्र मुख्यमंत्री कार्यालय ने इसकी घोषणा की है. दिलीप पाटिल 1999 से लेकर 2008 तक विभिन्न मंत्रालयों का काम कर चुके हैं. राज्य के अंबेगांव इलाके से ताल्लुक रखने वाले दिलीप पाटिल 6 बार विधायक बने हैं. वर्ष 1999 से 2008 के दौरान पाटिल वित्त मंत्री, ऊर्जा मंत्री, उच्च और तकनीकी शिक्षा मंत्री जैसे हाईप्रोफाइल पोर्टफोलियो पर रह चुके हैं. पाटिल ने अपने राजनीतिक कैरियर की शुरुआत शरद पवार के पर्सलन असिस्टेंट (PA) के तौर पर की थी.

Like us share us

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *