ब्रिटिश कोर्ट के फैसले के बाद कब भारत आ सकता है नीरव मोदी, जानें- अब क्या विकल्प है

Nirav Modi extradition: India did not respond to Britain's requests for  more information, says NDTV

 पीएनबी घोटाले के आरोपी नीरव मोदी को ब्रिटिश कोर्ट ने भारत प्रत्यर्पित करने की मंजूरी दे दी है। अब उम्मीद जताई जा रही है कि पंजाब नेशनल बैंक से लगभग 13 हजार 600 करोड़ रुपये के गबन का आरोपी नीरव मोदी जल्द ही भारत आ सकता है। भारत आने पर नीरव मोदी को मुबंई के ऑर्थर रोड जेल के बैरक नंबर 12 में रखा जाएगा। कोर्ट के आदेश के बाद नीरव मोदी को बचने के लिए अब क्या विकल्प है? क्या नीरव मोदी इसके बाद भारत आ सकता है या नहीं। क्या नीरव के भारत आने में अभी भी कोई पेंच हैं? इन्ही सवालों पर आइए नजर डालते हैं।

लंदन में वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट के आज से फैसले को अभी ब्रिटेन की गृह मंत्री प्रीति पटेल के पास हस्ताक्षर के लिये भेजा जाएगा। जिसके बाद ब्रिटिश मंत्री कोर्ट के इस फैसले को अपनी मंजूरी देंगी। अगर यहां कोई समस्या आती है तब भी नीरव मोदी के भारत प्रत्यर्पण में विलम्ब हो सकती है। हालांकि, भारत सरकार के कई अधिकारी ब्रिटिश सरकार के साथ करीबी संपर्क बनाए हुए हैं। बता दें कि नीरव मोदी से जुड़े इस फैसले की कॉपी यूके के गृह मंत्रालय में भेजी जाएगी। इसके बाद होम ऑफिस के पास 28 दिन का समय होगा, जिस पर वहां के सचिव हस्ताक्षर करेंगे। इस तरह कुल 28 दिनों के भीतर नीरव मोदी को भारत लाने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। लेकिन नीरव मोदी के पास अभी भी विकल्प हैं, जिनसे वह फिलहाल के लिए बच सकता है।

ब्रिटिश हाईकोर्ट में अपील कर सकता है नीरव

नीरव मोदी के पास अब वेस्टमिंस्टर कोर्ट के फैसले के खिलाफ हाईकोर्ट में अपील करने का एक विकल्प बाकी है। यहां भी सुनवाई के दौरान नीरव मोदी के वकील बहस करेंगे। जिसके बाद हाईकोर्ट नीरव को भारत प्रत्यर्पित करने पर अपना फैसला सुनाएगा। ऐसे में इस भगोड़े कारोबारी के अभी तुरंत भारत आने की उम्मीदें कम हैं।

Like us share us

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *